• Fri. Jul 12th, 2024

Udaipur News

Udaipur News Today | Udaipur News Live | उदयपुर न्यूज़ | उदयपुर समाचार

Udaipur Latest News 02 October 2023 उदयपुर की ताजा खबर Udaipur latest News 02 October 2023 उदयपुर की ताजा खबर Udaipur Latest News 02 October 2023 उदयपुर की ताजा खबर

Byadmin

Oct 2, 2023
  • हेलो फ्रेंड्स हम हाजिर हैं आज की अपडेट्स लेकर…..
  • में गांधी जयंती के अवसर पर  महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए कई कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस अवसर परबच्‍चों सहित लोगों ने महात्‍मा गांधी को श्रदांजलि अर्पित की।मुख्यमंत्री  ने सोमवार को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयन्ती पर शासन सचिवालय तथा गांधी सर्किल स्थित बापू की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष बैठकर गांधी जी के प्रिय भजन वैष्णव जन तो तेने कहिये, रघुपति राघव राजा राम व राम धुन का श्रवण किया।
  • असम और मेघालय में सोमवार शाम को भूकंप के झटके महसूस किए गए. भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 5.2 मापी गई. नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के मुताबिक, भूकंप का केंद्र मेघालय के नार्थ गारो हिल्स में 10 किलोमीटर की गहराई में था. असम और मेघालय के अलावा त्रिपुरा में भी भूंकप के झटके महसूस किए गए हैं. फिलहाल, कहीं से जानमाल के नुकसान की खबर नहीं है.
  •  उत्तरी बंगाल के कुछ भागों में भूकंप के झटके महसूस किए गए. ऐसा बताया कि सिलीगुड़ी और कूचबिहार में भूकंप आया है न्यूज एजेंसी ANI की रिपोर्ट के मुताबिक, भूकंप सोमवार शाम को करीब 6 बजकर 15 म‍िनट पर आया. भूकंप की तीव्रता 5.2 थी, जो खतरनाक स्‍तर की मानी जाती है. ऐसे में लोग घरों से बाहर निकल आए.इससे पहले सोमवार को ही मध्य प्रदेश के सिवनी जिले में लगातार चौथे दिन भूकंप के झटके महसूस किए गए. यहां सुबह 7.15 बजे रियेक्टर स्केल पर 2.9 तीव्रता का भूंकप का झटका दर्ज किया गया. भूकंप का एपीसेंटर 5 किलोमीटर गहराई में बताया गया. कलेक्टर क्षितिज सिंघल ने सोमवार को बताया कि बीते 29 सितंबर से जिले के विभिन्न क्षेत्रों में भूकंप के हल्के झटके महसूस किए जा रहे हैं. भूकंप का कारण प्लेटों का आपसी टकराव हो सकता सकता है.
  • 29 सितंबर को महसूस भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने में 2.9 और 30 सितंबर को 1.8, 1 अक्टूबर को रात 9.20 को दर्ज भूकंप की तीव्रता 2.8 दर्ज किया गया हैं. इसी तरह 2 अक्टूबर को सुबह 7.15 को दर्ज भूकंप की तीव्रता 2.9 दर्ज की गई हैं. दर्ज कम तीव्रता वाले भूकंप से जान माल की हानि की संभावना नही हैं.
  • कलेक्टर ने कहा कि जिला प्रशासन भारतीय मौसम विज्ञान के वरिष्ठ वैज्ञानिकों के संपर्क में हैं. जिला प्रशासन द्वारा पुलिस, होमगार्ड्स, एसडीआरएफ, स्वास्थ्य व स्थानीय प्रशासन अधिकारी कर्मचारियों को समस्त व्यवस्थाएं सुनिश्चित करते हुए अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए गए हैं. जिला प्रशासन द्वारा नागरिकों से धैर्य बनाये रखते हुए सावधानी रखने की अपील की गई है.

  • चिकित्‍सा या शरीर विज्ञान क्षेत्र में वर्ष-2023 का नोबेल पुरस्‍कार संयुक्‍त रूप से हंगरी की प्रोफेसर कैटेलिन कारिको और अमरीका के प्रोफेसर ड्रीयू वीसमैन को प्रदान किया जाएगा। इन दोनों वैज्ञानिकों ने ऐसी प्रौद्योगिकी विकसित की जिससे एम-आरएनए आधारित कोविड टीकों का निर्माण संभव हो सका। इस तकनीक पर वैश्विक महामारी से पहले प्रयोग चल रहा था लेकिन अब यह विश्‍व में लाखों लोगों को दी जा चुकी है। इसी एम-आरएनए प्रौद्योगिकी पर कैंसर सहित अन्‍य बीमारियों के लिए भी अनुसंधान हो रहा है।
  • प्रोफेसर कारिको और प्रोफेसर वीसमैन काफी लंबे समय से यूनिवर्सिटी ऑफ पेंसिलवेनिया में काम कर रहे हैं। इन दोनों को अपने अनुसंधान के लिए 2021 में प्रतिष्ठित लास्‍कर पुरस्‍कार सहित कई पुरस्‍कारों से सम्‍मानित किया जा चुका है। नोबेल पुरस्‍कार समिति ने कहा कि आधुनिक समय में मानव स्‍वास्‍थ्‍य के लिए दोनों वैज्ञानिकों का योगदान काफी महत्‍वपूर्ण है। इनकी तकनीक से मानव स्‍वास्‍थ्‍य के लिए एक सबसे बड़े खतरे के समय में अभूतपूर्व दर से टीकों का विकास हो पाया। ये टीके वायरस या बैक्टिरिया से लड़ने के लिए शरीर के प्रतिरोधक तंत्र को तैयार करते हैं। एम-आरएनए तकनीक पारंपरिक टीकों से अलग है। जब हमारे शरीर पर कोई वायरस या बैक्टिरिया हमला करता है तो ये तकनीक उस वायरस से लड़ने के लिए हमारी कोशिकाओं को प्रोटीन बनाने का संदेश भेजती है। इससे हमारे प्रतिरोधक तंत्र को जो जरूरी प्रोटीन चाहिए वो मिल जाता है। कोविड महामारी के दौरान माडर्ना, फाइजर तथा बायोएनटेक टीके एम-आरएनए तकनीक पर आधारित थे।
  • आयुष्मान भव अभियान के तहत 50 हजार से अधिक लोगों ने अपने अंग दान करने का संकल्प लिया है। राष्ट्रपति ने पिछले महीने गुजरात के गांधीनगर से इस अभियान की शुरुआत की थी। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री  ने एक सोशल मीडिया पोस्ट में लोगों से अंगदान के लिए शपथ लेने का आग्रह किया।
  • स्वच्छता को केन्‍द्र में रखकर और पूर्ण स्‍वच्‍छता के दृष्टिकोण के साथ सरकारी कार्यालयों में स्वच्छता और लंबित मामलों को कम करने के साथ एक विशेष अभियान का तीसरा चरण आज से शुरू हो गया है।
  • राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर शुरू हुआ यह विशेष अभियान इस महीने की 31 तारीख तक जारी रहेगा। यह अभियान पिछले दो वर्षों में चलाए गए विशेष अभियानों की अगली कड़ी है।
  • कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय के अनुसार, पिछले दो स्वच्छता अभियानों के दौरान लगभग 90 लाख वर्ग फुट प्रधान कार्यालय स्थान को साफ किया गया है और उत्पादक उपयोग में लाया गया है। इसके अलावा, सरकार को रद्दी के निपटान से 370 करोड़ रुपये से अधिक का राजस्व भी प्राप्त हुआ और चार लाख 56 हजार लोक शिकायतों का निवारण किया गया।
  • केरल के एर्नाकुलम जिले के गोथुरुथ इलाके में एक कार पेरियार नदी में गिर गई। इस हादसे में दो डॉक्टरों की मौत हो गई। डॉ ही कार ड्राइव कर रहे थे और उन्होंने अपने मोबाइल का Google मैप ऑन कर रखा था।
  • अंधेरी रात का समय भारी बारिश हो रही थी। एक अनाजान सड़क पर पांच युवक अपने एक दोस्त के बर्थडे सेलिब्रेट कर लौट रहे थे। रास्ता नहीं जानते थे इसलिए उन्होंने अपनी कार में जीपीएस चालू कर दिया। भारी बारिश होने के कारण सड़क पर पानी भरा हुआ था और वे मानचित्र में देखकर सीधे आगे चलते जा रहे थे। उनकी कार पानी में चली गई, लेकिन वह सड़क नहीं बल्कि एक नदी थी। पानी ज्यादा होने के कारण कार डूबने लगी। जीपीएस ने धोखा देने कारण दो लोगों की जान चली गई। मरने वाले डॉ. (29 साल) और उनके सहयोगी डॉ.  (29 साल) है। कार में सवार तीन अन्य लोग खुद को किसी तरह बाहर निकालने में कामयाब रहे। इन तीनों की जान बच गई।
  •  केरल के एर्नाकुलम जिले के गोथुरुथ में भारी बारिश होने के कारण दृश्यता भी काफी कम थी। कार चला रहा युवक गूगल मैप के बताए रास्ते से जा रहा था। उसे बाएं मोड़ पर गाड़ी घुमानी थी, लेकिन वह गलती से आगे बढ़ गया। उनकी कार नदी में गिर गई। भारी बारिश होने के कारण पानी का स्तर भी काफी बढ़ा हुआ था।

    हादसे को देखकर स्थानीय लोग घटनास्थल पर जमा हो गए। भीड़ में से किसी ने पुलिस का इसकी जानकारी दी। ये डॉक्टर कोडुंगल्लूर क्राफ्ट अस्पताल में काम करते थे।  जीवित बचे लोगों में से एक डॉ.  ने खुलासा किया कि यह दुर्घटना जीपीएस से उनका रास्ता बदलने के बाद हुई।
  • केन्‍द्रीय युवा मामले और खेल राज्‍य मंत्री  ने आज नई दिल्‍ली में मेजर ध्‍यानचन्‍द राष्‍ट्रीय स्‍टेडियम में फिट इंडिया स्‍वच्‍छता फ्रीडम रन के चौथे संस्‍करण की शुरूआत की। यह आयोजन इस महीने की 31 तारीख तक चलेगा। इसका उद्देश्‍य फिटनेस को बढावा देना और मोटापे, आलस्‍य, तनाव, बैचेनी तथा बीमारियों से मुक्ति पाने में लोगों की मदद करना है।इस आयोजन में स्‍वच्‍छ भारत, स्‍वस्‍थ भारत के आह्वान के साथ नागरिकों से शारीरि‍क फिटनेस बनाने के लिए तीस मिनट देने का अनुरोध किया जायेगा। फिट इंडिया फ्रीडम रन का समापन 31 अक्‍टूबर को गुजरात के केवडिया में करने का प्रस्‍ताव है।
  • मेक्सिको में तामाउलिपास राज्‍य में एक गिरजाघर की छत गिरने से 3 बच्‍चों सहित 10 लोगों की मृत्‍यु हो गई है। यह घटना सियूडैड शहर में सेंटाक्रूज गिरजाघर में हुई। घटना के समय लगभग 100 लोग प्रार्थना के लिए गिरजाघर में मौजूद थे। साठ लोग घायल हुए हैं और कई लोग मलबे के नीचे दबे हुए हैं। लोगों को मलबे के नीचे से निकालने के लिए बचाव दल दुर्घटनास्‍थल पर हैं। शहर के मेयर का कहना है कि इस घटना का कारण गिरजाघर की इमारत में कोई खराबी हो सकती है।
  • बिहार सरकार ने जातिगत गणना के आंकड़े जारी कर दिए हैं. राज्‍य में अत्‍यंत पिछड़ा वर्ग की आबादी सबसे ज्‍यादा है. वहीं, पिछड़ा वर्ग कुल आबादी का 27.1 प्रतिशत है. बिहार जाति आधारित सर्वे में कुल आबादी 13 करोड़ से ज्यादा बताई गई है. सोमवार को मुख्य सचिव समेत अन्य अधिकारियों ने ये रिपोर्ट जारी कर दी . बिहार की जनसंख्या 13 करोड़ 7 लाख 25 हजार 310 है. इसमें 2 करोड़ 83 लाख 44 हजार 160 परिवार हैं. अनुसूचित जाति 19.65%, अनुसूचित जनजाति 1.68% और सामान्य वर्ग 15.52% है. इसमें पुरुषों की कुल संख्या 6 करोड़ 41 लाख 31 हजार 990 है, जबकि महिलाओं की संख्या 6 करोड़ 11 लाख 38 हजार 460 है. अन्य की संख्या 82 हजार 836 पाई गई है. गणना के अनुसार 1000 पुरुषों पर 953 महिलाएं हैं.बिहार में जातिगत सर्वे दो फेज में पूरा हुआ था. 7 जनवरी से सर्वे का पहला फेज शुरू हुआ था. इसमें मकानों का सूचीकरण हुआ, मकानों को गिना गया. यह फेज 21 जनवरी 2023 को पूरा कर लिया गया था. दूसरा फेज 15 अप्रैल से शुरू हुआ. इसे 15 मई को पूरा हो जाना था. लोगों से डेटा जुटाए गए. दूसरे फेज में परिवारों की संख्या, उनकी लाइफस्टाइल, इनकम वगैरह के आंकड़े जुटाए गए
  • कोटा में अब ट्रिपल आईटी (IIIT) की पढ़ाई भी स्टूडेंट्स कर सकेंगे. कोटा को ट्रिपल आईटी भवन का लंबे वक्त से जिसका इंतजार था, उसकी सौगात सोमवार को मिल गई. प्रधानमंत्री  ने कोटा के रानपुर में भव्य इमारत का वर्चुअल लोकार्पण  कियावर्तमान में ट्रिपल आईटी कैंपस में बीटेक प्रथम, द्वितीय व तृतीय ईयर, एमटेक और पीएचडी की कक्षाएं संचालित होती हैं. बीटेक फोर्थ ईयर की क्लास जयपुर एमएनआईटी में संचालित होती है. ट्रिपल आईटी में कुल 800 छात्र पढ़ाई कर रहे हैं, लेकिन यहां करीब 650 छात्र और बाकी जयपुर में अध्यनरत हैं.
  •  मुख्यमंत्री मदरसा आधुनिकीकरण योजना 2023- 24  के अंतर्गत राजस्थान मदरसा बोर्ड से पंजीकृत मदरसों के समस्त विद्यार्थियों को प्रति विद्यार्थी दो सेट गणवेश(ड्रेस) वितरित की जाएगी।  लगभग 2 लाख विद्यार्थियों को 15.34 करोड़ रूपये की लागत से यूनिफॉर्म वितरित की जाएगी। साथ ही,बजट घोषणा वर्ष 2021-22 में राजस्थान मदरसा बोर्ड से पंजीकृत 158 चयनित मदरसों में 1.82 करोड़ की लागत से 2 कम्प्यूटर, 2 यूपीएस व 1 प्रिन्टर का वितरण भी किया जाएगा।
  • सोमवार सुबह 9:55 पर चित्तौड़गढ़ के पास उदयपुर से जयपुर जाने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस पहुंची. इसी दौरान गंगरार और सोनीयाला स्टेशन के बीच पायलट ने ट्रैक पर पत्थर और लोहे की क्लिप देखी गई और ड्राइवर ने अपनी सूझ-बूझ का इस्तेमाल करते हुए इमरजेंसी ब्रेक लगा दिया, जिससे बड़ा हादसा टल गयाजानकारी के अनुसार रेलवे ट्रैक पर लोहे की क्लिप और पत्थर पाए गए थे. आशंका है किसी असमाजिक तत्व द्वारा ट्रैक पर लोहे क्लिप और पत्थर डाले गए थे. इससे पहले भी वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन के एक खाली डिब्बे के शीशे में पत्थर फेंकने के चलते दरार आ गई थी.

    रिपोर्ट के मुताबिक सोमवार सुबह 9:55 पर चित्तौड़गढ़ के पास उदयपुर से जयपुर जाने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस पहुंची. इसी दौरान गंगरार और सोनीयाला स्टेशन के बीच पायलट ने ट्रैक पर पत्थर और लोहे की क्लिप देखी गई और ड्राइवर ने अपनी सूझ-बूझ का इस्तेमाल करते हुए इमरजेंसी ब्रेक लगा दिया,.गौरतलब है उदयपुर से जयुपर के बीच चलाई जा रही हाई स्पीड ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस 435 किलोमीटर की दूरी 6 घंटे 15 मिनट में तय करती है. जबकि इस रूट की अन्य ट्रेनों को सात घंटे का समय लगता है.

    • दरअसल, वंदे भारत ट्रेन उदयपुर से सुबह 7.50 बजे रवाना होकर चित्तौड़गढ़ पहुंची थी. चित्तौड़गढ़ से करीब 9.30 बजे भीलवाड़ा के लिए निकली थी. इस बीच रास्ते में सोनियाणा और गंगरार रेलवे स्टेशन के बीच लोको पायलट को पटरियों में कुछ गड़बड़ी की आशंका हुई. लोको पायलट ने ट्रेन को रोक दिया. ट्रेन से उतरकर देखा, तो करीब 50 फीट की पटरी पर टुकड़ों-टुकड़ों में पत्थर और सरिए लगे हुए थे.लोको पायलट ने इसकी सूचना अधिकारियों को दी. इसके बाद मौके पर पुलिस के साथ ही रेलवे के तमाम अधिकारी पहुंच गए. शुरुआती जांच में सामने आया कि क्षेत्र में ही रहने वाले कुछ शरारती लोगों ने इस तरीके की हरकत की है. मामले की रेलवे पुलिस जांच कर रही है.रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी (PRO) ने कहा, “ट्रैक पर एक-एक फीट लंबी दो छड़ें थीं. लोको पायलट ने सूझबूझ का परिचय दिया. उन्होंने न सिर्फ सारा मलबा हटा दिया, बल्कि यह सुनिश्चित किया कि पूरा रूट क्लियर हो जाए. उन्होंने कंट्रोल रूम को भी सूचित किया. इसके बाद रेलवे सुरक्षा बल और सरकारी रेलवे पुलिस  की टीमों को मौके पर भेजा गया.”उदयपुर-जयपुर वंदे भारत ट्रेन हाल ही 24 सितंबर को प्रधानमंत्री  द्वारा हरी झंडी देकर रवाना की गई थी. इसके साथ में देश की 9 वंदे भारत ट्रेन को जल्दी दी गई थी. वंदे भारत ट्रेन मंगलवार को छोड़कर पूरे सप्ताह में सुबह अपने तय समय पर निकलती और दोपहर तक जयपुर पहुंच रही है.

    160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलने की क्षमता रखने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन के साथ आए दिन ऐसी घटनाएं हो रही हैं. बीते दिनों कासरगोड से तिरुवनंतपुरम जाने वाली वंदे भारत ट्रेन पर भी पत्थर फेंके गए थे. विशाखापत्तनम और दार्जिलिंग में भी वंदे भारत पर पथराव के मामले सामने आ चुके हैं वंदे भारत ट्रेन 435 किलोमीटर की दूरी 6 घंटे 15 मिनट में तय करती है. इसके लॉन्च से पहले इस रूट की अन्य ट्रेनों को इस रूट पर सात घंटे का समय लगता था. उदयपुर से जयपुर चलने वाली वंदे भारत ट्रेन के साथ 8 दिन में ये दूसरी घटना है. कुछ दिन पहले ही ट्रेन पर एक युवक पत्थर मारकर कांच तोड़ दिए थे. घटना गंगरार (भीलवाड़ा) के मेवाड़ कॉलेज के पास हुई थी.

  • उदयपुर के अशोक नगर में रहने वाले 48 साल केडाॅ.  ने 1 अक्टूबर को माउंट एवरेस्ट के करीब 17,500 फीट की ऊंचाई पर बने बेस कैंप पर तिरंगा झंडा फहरायाडाॅ. ने यह यात्रा 24 सितंबर को काठमांडू से शुरू की थी। चुनौतीपूर्ण यात्रा में उनका हर पल यादगार बनता गया।  कठिन चढ़ाई, उबड़-खाबड़ रास्ते जिस पर चलना काफी मुश्किल था लेकिन, पॉजिटिव रहने के साथ हर कदम के साथ आगे बढ़ते गए।1 अक्टूबर को दोपहर 3 बजे जैसे ही वहां पहुंचे तो खुशी से झूम उठे।  वे अब वहां से रवाना हो चुके हैं और करीब पांच दिन में नीचे आ जाएंगे।
  • राष्ट्रपिता महात्मा गांधी तथा पूर्व प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री जयंती के अवसर पर सोमवार को जिला मुख्यालय सहित जिले भर में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर दोनों महापुरुषों को याद किया गया।इस मौके पर सद्भावना दौड़ और सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया।। कार्यक्रम के प्रारंभ में  अतिथियों ने गांधी जी व लाल बहादुर शास्त्री की तस्वीर पर माल्यार्पण किया व पुष्पांजलि अर्पित की। व उनके बताए हुए मार्ग एवं संकल्प को साकार करने की सीख दी एवं उनके सिद्धांतों को अपनाने पर विशेष जोर दिया।
  • आज मल्ला तलाई के गांधी नगर में  जनता क्लिनिक का लोकार्पण किया गया। जनता क्लिनिक पर 8 तरह की निशुल्क जांचे उपलब्ध रहेगी, सभी प्रकार की आवश्यक दवाइयां भी निशुल्क उपलब्ध रहेगी। क्षेत्र वासियों को उपचार के लिए अब चांदपोल सेटेलाइट एवं महाराणा भूपाल चिकित्सालय नहीं जाना पड़ेगा।
  • शहर में जाम की समस्या  है। लोग घंटों जाम में फंस जाते हैं। प्रतापनगर से बलीचा और सुखेर इन दोनों बायपास पर 16 से 22 जून तक तो इतना जबर्दस्त जाम लग गया था कि 6 दिन तक खुला ही नहीं। कतारें भी 32 किमी तक जा पहुंची थी। लाखों लोग फंसे रहे और वाहन रेंगते हुए चले। दोनों बाईपास से रोज लगभग 41 हजार वाहन गुजरते हैं। इन दोनों बायपास जाने वाले मार्गों पर आए दिन जाम की स्थिति से लोग परेशान हैं। हालात ये हैं कि इन मार्गों पर गड्ढे बने हैं, जो बारिश सीजन में और लंबे-चौड़े हो गए। ये वाहनों की राह और स्पीड में बाधा बनते हैं और लंबी कतारें लग जाती हैं।देबारी से काया तक बायपास का काम धीमी गति से होने के कारण प्रतापनगर और यहां से बलीचा व सुखेर बायपास तक बार-बार जाम की स्थिति बन रही है। प्रतापनगर से नाथद्वारा की तरफ जाने वाले वाहन नेशनल हाईवे 58 (सुखेर बायपास) से होकर गुज़रते है । यहाँ से सुखेर चौराहे की दूरी 5.8 किमी है। प्रतापनगर आपणी ढाणी से सुखेर चौराहे के बीच सड़क निर्माण का काम चल रहा है । इसी के चलते यातायात एकतरफा है। हालांकि सुखेर से आपणी ढाणी के बीच तीन कट हैं। जहां दोनों तरफ यातायात चालू है। इसके अलावा प्रतापनगर से आपणी ढाणी तक की सड़क खस्ताहाल है, जगह-जगह पर गड्ढे हैं। ये ट्रैफिक की रफ्तार को धीमी करती है और जाम की स्थिति बनती है।सुखेर बायपास पर रोज औसत 6 हजार भारी और 10 हजार अन्य वाहन गुज़रते हैं। करीब 30 हजार लोग सफर करते हैं। अहमदाबाद, जयपुर-दिल्ली और मध्यप्रदेश की तरफ से प्रतापनगर तक आने वाले लोग इसी रोड से नाथद्वारा की तरफ जाते हैं।खराब सड़क और वन-वे के कारण कई वाहनधारी तो प्रतापनगर से ठोकर, शोभागपुरा, आरके सर्कल होते हुए सुखेर पहुंचते हैं। जिससे इनका ईंधन और समय दोनों का नुकसान उठाना पड़ता है। जर्जर रोड से काफी मात्रा में धूल उड़ती है। जो लोगों के घरों व दुकानों में रखे सामान पर जम जाती है। जाम की स्थिति अधिकतर शाम को ही बनती है। शहरवासी भी शाम को काम से लौटते हैं और उदयपुर काम कर आस-पास के गांवों में रहने वाले लोग भी वापस जाते हैं।
  • सुखेर बायपास पर यूआईटी सड़क निर्माण करवा रही है। यह काम समय पर और तेज़ी से किए जाने की जरूरत है। इसके बाद ही ट्रैफिक व्यवस्था सुधर पाएगी।दिल्ली-जयपुर और मध्यप्रदेश की तरफ से आने वाले छोटे-बड़े वाहन प्रतापनगर चौराहे पर पहुंचते हैं। जो अहमदाबाद जाने के लिए नेशनल हाईवे 48 (बलीचा बाइपास) होकर गुजरते हैं। प्रतापनगर से बलीचा की दूरी 12 किमी है। भारी ट्रैफिक दबाव और मानसून सीजन में इस रोड पर हर 20 कदम पर गड्ढे बन गए।
  • चीन के हांगचाओ में एशियाई खेलों में आज भारत ने तीन और कांस्‍य पदक जीत लिए हैं। पदक तालिका में भारत 13 स्वर्ण, 21 रजत और 22 कांस्य पदकों के साथ कुल 56 पदक लेकर चौथे स्‍थान पर बना हुआ है। पुरुष हॉकी में अपने ग्रुप स्टेज के आखिरी मैच में इस समय भारत का मुकाबला बांग्लादेश से हो रहा है।  वहीं कबड्डी में इस समय भारतीय महिला टीम चीनी ताइपे के साथ मुकाबला कर रही है। बैडमिंटन के सिंगल में किदाम्‍बी श्रीकांत और डबल्‍स में सा‍त्विक सांईराज, रंकी रेड्डी और चिराग शेट्टी की जोडी जीत के साथ अगले दौर में पहुंच गई है।
  • चीन के हांगझोऊ एशियाई खेलों में ‘अब की बार 100 पार’ का लक्ष्य लेकर उतरे भारतीय खिलाडियों का शानदार प्रदर्शन जारी है। 19वें एशियन खेलों के आज 9वें दिन की शुरुआत 3 कांस्य पदक से हुई। स्पीड स्केटिंग में पहले भारतीय महिला टीम ने कांस्य पदक जीता, उसके बाद पुरुष टीम ने भी कांस्य पदक अपने नाम किया। इसके बाद टेबल टेनिस के महिला डबल्स में भी कांस्य पदक आया। टेबल टेनिस में सुतीर्था और अयहिका मुखर्जी की जोड़ी को सेमीफाइनल में हार का सामना कर कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा। भारतीय जोडी को कोरिया ने 4-3 से प‍राजित किया।
  • इससे पहले आज संजना भटुला, कार्तिका जगदीश्वरन, हीरल साधु और आरती कस्तूरी की महिला टीम ने रोलर स्‍केटिंग में 3000 मीटर रिले रेस में कांस्य पदक जीता। वहीं स्केटिंग में पुरुषों की 3000 मीटर स्‍पीड स्‍केटिंग में भारत के आर्यनपाल, आनंदकुमार, सिद्धांत और विक्रम की टीम ने तीसरे स्थान पर रही और कांस्य पदक हासिल किया।
  • बैडमिंटन में मिक्‍स्‍ड डबल्‍स में कृष्‍णा प्रसाद और तनीशा क्रैस्‍टो की जोड़ी मकाउ की जोड़ी को हराकर अंतिम 16 में पंहुच गई है। आज ही व्‍यक्तिगत मुकाबलों में किदांबी श्रीकांत, एच एस प्रणय, पी वी सिंधू अपने-अपने मुकाबले खेलेंगे।
  • एथेलि‍टिक्‍स  में भारत आज  कुछ और पदक  जीत सकता है।  जब  पुरुष  हाई जंप, महिलाओं के पोल वॉल्ट, महिलाओं की लॉन्ग जंप, महिलाओं की 3000 मीटर स्टेपलचेज, पुरुषों की  200 मीटर फाइनल और  चार गुणा 400 मिक्स्ड रिले  में भारतीय खलाड़ी अपनी चुनती पेश करेंगे।
  • पोलवॉल्‍ट के फाइनल में पवित्रा वैंकटेश, महिलाओं की लॉग जम्‍प में शैली सिंह और ऐंकी सोजन ,पुरुषों के दो सौ मीटर फाइनल में मोहम्‍मद अनस, सानिया, ऐश्‍वर्या मिश्रा, अजमल और जैसन मैथ्‍यू अपनी चुनती पेश करेंगे। वहीं चार गुणा चार सौ मिक्‍स्‍ड रिले दौड के फाइनल में अमलान बारगोहिन, पुरुषों की सौ मीटर डैकेथालॉन में तेजस्विन शंकर और पुरुषों की हाई जम्‍प के क्‍वालिफिकेशन में सर्वेश भाग लेंगे
  • गोताखोरी में आज पुरुषों के एक मीटर स्‍प्रिंगबोर्ड के फाइनल में लंदन सिंह हिस्‍सा लेंगे। आज ही घुडसवारी में शो जम्पिंग के व्‍यक्तिगत मुकाबले में मेजर अपूर्व और विकास कुमार हिस्‍सा लेंगे।
  •  ।उदयपुर में दोनों कीमती धातुओं के भाव इस प्रकार रहे
    सोना 22 कैरेट 1 ग्राम₹  5429 सोना 24 कैरेट 1 ग्राम ₹ 5700
    चांदी 1 किलो बार का भाव रहा ₹₹ 75500
  • मौसम
  • मौसम विभाग ने कहा –अगले दो से तीन दिनों के दौरान बिहार, झारखण्‍ड, उप हिमालय पश्चिम बंगाल तथा सिक्किम, उत्तरी ओडिशा, उत्तरी छत्तीसगढ़ में मूसलाधार वर्षा जारी रहने की संभावना है। मौसम विभाग ने कहा कि कम दबाव का क्षेत्र दक्षिण पश्चिम झारखंड और उससे सटे उत्तरी छत्तीसगढ़ पर स्थित है।
  • उदयपुर में  पिछले 24 घंटों के दौरान  तापमान रहा अधिकतम 33 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम  21 सेल्सियस
  • तो ये थीं अब तक की अपडेट्स हम फिर आएंगे और अपडेट्स लेकर बने रहिए हमारे साथ.

Leave a Reply

Your email address will not be published.