• Fri. Jul 12th, 2024

Udaipur News

Udaipur News Today | Udaipur News Live | उदयपुर न्यूज़ | उदयपुर समाचार

Udaipur Latest News 04 January 2023 उदयपुर की ताजा खबर Udaipur Latest News 04 January 2023 उदयपुर की ताजा खबर Udaipur Latest News 04 January 2023 उदयपुर की ताजा खबर

Byadmin

Jan 4, 2023
  • हेलो फ्रेंड्स हम हाजिर हैं आज की अपडेट्स लेकर….
  • भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण- यूआईडीएआई ने परिवार के मुखिया की सहमति से लोगों को आधार में अपना पता ऑनलाइन अद्यतन करने में मदद करने के लिए  अनुकूल सुविधा दी है। आधार में परिवार का मुखिया आधारित ऑनलाइन पता अद्यतन उन निवासियों के रिश्‍तेदारों के लिए बहुत सहायक होगा जिनके पास आधार में अपना पता अपडेट करने के लिए उनके नाम का सहायक दस्‍तावेज नहीं है।राशन कार्ड, मार्कशीट, विवाह प्रमाण पत्र, उम्‍मीदवार और परिवार के मुखिया दोनों के संबंधों और उनके नाम दर्शाने वाले पासपोर्ट जैसे रिश्‍तों के दस्‍तावेज का प्रमाण सुपुर्द करके आधार अद्यतन किया जा सकता है। रिश्‍तेदारी के दस्‍तावेज नहीं होने की स्थिति में भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण एक ल‍िखित फार्मेट में निवासी को परिवार के मुखिया द्वारा स्‍वघोषणा देने की सुविधा देता है।भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण द्वारा लिखित पता प्रमाण का कोई वैध दस्‍तावेज का प्रयोग करके वर्तमान पता अद्यतन सुविधा के साथ यह विकल्‍प अतिरिक्‍त सुविधा होगी। 18 वर्ष से अधिक की उम्र का कोई भी निवासी इस मामले में परिवार का मुखिया हो सकता है और अपना पता इस प्रक्रिया के माध्‍यम से अपने रिश्‍तेदारों के साथ साझा कर सकता है।
  • आज विश्‍व ब्रेल दिवस मनाया जा रहा है। यह दिवस ब्रेल के महत्‍व को लेकर जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है। ब्रेल लिप‍ि पूर्ण दृष्टि बाधित और आंशिक रूप से दृष्टि बाधित लोगों के मानवाधिकारों की पूर्ण अनुभूति से संपर्क का माध्‍यम है। यह दिवस फ्रांसीसी शिक्षा विशारद लूईस ब्रेल की जयंती के स्‍मरण में मनाया जाता है। लूईस ब्रेल ने 1809 में ब्रेल लिपि का अविष्‍कार किया था। राष्‍ट्रीय दृष्टि बाधित संघ  नेआज नई दिल्‍ली में इस अवसर पर एक कार्यक्रम आयोजित किया इस संघ के महासचिव  ने दृष्टि बाधित लोगों के जीवन में इस दिन के महत्‍व को लेकर जानकारी दी। उन्‍होंने कहा कि प्रौद्योगिकी विकास के बावजूद ब्रेल का कोई विकल्‍प नहीं है।
  • नववर्ष के अवसर पर दो जनवरी को भारतीय सेना ने विश्व के सबसे ऊंचे युद्धक्षेत्र सियाचिन में पहली बार महिला अधिकारी को तैनात किया है। सियाचिन समर स्कूल में कड़े प्रशिक्षण के बाद कैप्टन चौहान सियाचिन में पहली महिला अधिकारी के रूप में तैनात की गई हैं। राजस्थान की सिविल इंजिनियरिंग में स्नातक कैप्टन  चौहान बंगाल सैपर अधिकारी हैं। उन्हें मई 2021 में इंजिनियरिंग रेजिमेंट में कमीशन मिला था।
  • राष्ट्रपति  ने पाली के रोहट में स्काउट गाइड जंबूरी का निरीक्षण किया और मार्च पास्ट की सलामी ली।
  • इस साल सूर्य, पृथ्वी और चंद्रमा की चाल दुनिया भर के खगोल प्रेमियों को एक पूर्ण सूर्यग्रहण समेत ग्रहण के चार रोमांचक दृश्य दिखाएगी. हालांकि भारत में इनमें से सिर्फ दो खगोलीय घटनाएं निहारी जा सकेंगी.  इस साल ग्रहणों का सिलसिला 20 अप्रैल को लगने वाले पूर्ण सूर्यग्रहण से शुरू होगा. ‘नववर्ष का यह पहला ग्रहण भारत में नहीं देखा जा सकेगा.’ पांच और छह मई की दरम्यानी रात लगने वाला उपच्छाया चंद्रग्रहण भारत में देखा जा सकेगा. गौरतलब है कि उपच्छाया चंद्रग्रहण उस समय लगता है, जब पृथ्वी की परिक्रमा कर रहा चंद्रमा ‘पेनुम्ब्रा’ (धरती की परछाई का हल्का भाग) से होकर गुजरता है. इस समय चंद्रमा पर पड़ने वाली सूर्य की रोशनी आंशिक तौर पर कटी प्रतीत होती है और ग्रहण को चंद्रमा पर पड़ने वाली धुंधली परछाई के रूप में देखा जा सकता है. उपच्छाया चंद्रग्रहण के वक्त पृथ्वी वासियों को पूर्णिमा का चंद्रमा पूरा तो दिखाई देता है, लेकिन उसकी चमक कहीं खोई-खोई नजर आती है. साल के इकलौते वलयाकार सूर्यग्रहण के नजारे से देश के खगोलप्रेमी वंचित रहेंगे क्योंकि यह घटना भारतीय मानक समय के मुताबिक 14 और 15 अक्टूबर की दरम्यानी रात में होगी. उन्होंने बताया कि 28 और 29 अक्टूबर की दरम्यानी रात लगने वाला आंशिक चंद्रग्रहण देश में देखा जा सकेगा और इस खगोलीय घटना के वक्त चंद्रमा का 12.6 फीसद हिस्सा ढंका नजर आएगा.हाल ही में समाप्त वर्ष 2022 दो पूर्ण चंद्रग्रहणों और दो आंशिक सूर्यग्रहणों का गवाह बना था.
  • सनातन धर्म में मां सरस्वती को संगीत एवं विद्या की देवी माना गया है। हिंदू पंचांग के अनुसार, माघ माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को बसंत पंचमी का पर्व मनाया जाता है। इस दिन देशभर में मां सरस्वती की विशेष पूजा की जाती है। इस बार बसंत पंचमी 26 जनवरी 2023 को मनाई जाएगी। शास्त्रों के अनुसार, इसी दिन ज्ञान, विद्या, संगीत और कला की देवी मां सरस्वती का जन्म हुआ था। ज्योतिष शास्त्र में बसंत पंचमी के दिन कई उपायों और मंत्रों का जिक्र किया गया है। इसलिए इस दिन मां सरस्वती की पूजा की जाती है। बसंत पंचमी से बसंत ऋतु की शुरुआत होती है।

     

  • उदयपुर में होने वाले विंटर कार्निवल में बॉलीवुड सहित लोक कलाकार 7 और 8 जनवरी को  प्रस्तुति देंगे।  मेले में फन, फूड, म्यूजिक एवं शॉपिंग का समावेश है। इस कार्निवल में 2 दिन के कंसर्ट का आयोजन भी किया जा रहा है जिसमें हर आयुवर्ग के लोगों का ध्यान रखते हुए 5 बॉलीवुड कलाकार मामे खान, रैतिला राजस्थान, असीस कौर, शर्ली सेटिया एवं लॉस्ट स्टोरीज अपनी प्रस्तुतियां देंगे।इस कार्निवल में  स्कूल के बच्चों द्वारा कार्निवल परेड का आयोजन भी किया जायेगा। इसमें बच्चों द्वारा कार्निवल की थीम पर परेड निकाली जाएगी। साथ ही कार्निवल को पूरा राजस्थानी थीम पर आयोजित किया जा रहा है। इसके अंर्तगत  बच्चों द्वारा फैशन शो का आयोजन भी किया जाएगा। इसमें देश विदेश के मॉडल भाग लेंगे

  • उदयपुर के सूरजपोल थाना इलाके में खंजीपीर मस्जिद के पास  सैफी कॉलोनी स्थित  कलर पेंट और थीनर के गोदाम में अचानक आग लग गई।घटना दोपहर साढ़े बारह बजे के आसपास हुई जब अचानक से शार्ट सर्किट होने से पेंट के कुछ डिब्बों ने आग पकड़ ली देखते ही देखते आग ने अपना विकराल रूप धारण कर लिया। गोदाम के बाहर आग बढ़ती हुई खड़ी दो कारों में जा पहुंची, इससे दोनों कारों में आग लग गई। आग से एक कार पूरी तरह जल गई।क्षेत्रवासियों ने आग की सूचना सम्बंधित थाने में दी सूचना मिलते ही नगर निगम की 7 फायर ब्रिगेड मौके पर पहुंची और लगातार फेरे लगाकर आग को काबू में करने के लिए मशक्कत होती रही।गोदाम के पास मस्जिद और दूसरे गोदाम भी थे, ऐसे में पुलिस ने एहतियातन वहां रखी गैस की टंकी को हटवाया और बाइक समेत कारों को गली से दूर किया गया। फायर ऑफिस के सात एक दर्जन से ज्यादा फायर कर्मचारियों ने आग को काबू में करने की कोशिश की।क़रीबा डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद केमिकल में लगी आग पर काबू पाया गया जिसमे क़रीब 8 दमकल की गाड़ियों ने 20 से ज़्यादा फेरे कर आग को बुझाया।  हालांकि गोदाम में ज्यादा सामान नहीं था।इस वजह से गोदाम मालिक को ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है। इस घटना में कोई जनहानि नहीं हुई।वहीं सूचना पर जिला कलेक्टर , नगर निगम आयुक्त  भी मौके पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने फायर फाइटर्स द्वारा दिखाई गई सूझबूझ और साहस को ध्यान में रखते हुए उन्हें रिवॉर्ड करने की बात कही साथ ही में रिहायशी इलाके में इस तरीके से केमिकल का गोदाम बनाने के पीछे के कारणों के बारे में भी पता लगाकर उचित कार्यवाई करने की बात कही।कुछ जागरूक क्षेत्रवासियों की वजह से सही वक़्त पर घटना की जानकारी पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियो को दे दी गई जिससे बड़ा हादसा होने से बच गया।

  • उदयपुर जिले के सुखेर थाना क्षेत्र के बेदला इलाके में बुधवार को एक फर्नीचर की फैक्ट्री में भीषण आग लग गई। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया। सापेटिया रोड पर फैक्ट्री में फर्नीचर की अलग-अलग सामान रखे हुए थे। 8 फायर ब्रिगेड की गाड़ियां लगातार आग बुझाने के लिए फेरे लगा। भीषण आग के कारण दूर तक आसमान में धुएं का गुब्बार नजर आया। फैक्ट्री में रखें गैस सिलेंडर और अन्य सामान को बाहर निकाला गया। आग की सूचना लगते ही बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ जमा हो गई।दरसअल फैक्ट्री में जहां पर पैकिंग का काम होता है। उसी जगह यह आग लगी। फर्नीचर फैक्ट्री के एक निर्माणाधीन ऑफिस में आग लगी। आग लगने के दौरान 50 से ज्यादा कर्मचारी ऑफिस में काम कर रहे थे। फैक्ट्री के बीचो-बीच ऑफिस होने से आग बुझाने में दमकल कर्मियों को काफी मशक्कत का सामना करना पड़ा। फायर ब्रिगेड की करीब 8 गाड़ियों ने आग पर काबू पाने का प्रयास किया। समय रहते आग बुझाने के कारण आग की लपटें फर्नीचर गोदाम तक नहीं पहुंच पाई। इसके कारण एक बड़ा हादसा होने से टल गया।जानकारी मिलने के बाद में एएसपी सिटी  भी मौके पर पहुंचे। आग की लपटें इतनी जबरदस्त थी कि 3 से 4 किलोमीटर दूर से ही आग के अंबार का धुंआ नजर आ रहा था। फैक्ट्री के मैनेजर  ने बताया कि बुधवार को निर्माणाधीन ऑफिस में अचानक आग लगी। एक ऑफिस पहले बना हुआ था, जबकि दूसरे को ऑफिस का काम चल रहा था। आग लगने के साथ ही कंपनी के कर्मचारी और अन्य लोगों ने आग बुझाना शुरू किया, लेकिन धीरे-धीरे आग बढ़ने लगी ऐसे में उदयपुर फायर ब्रिगेड की आठ दमकल की गाड़ियां एक के बाद मौके पर पहुंची।घटना दोपहर लगभग 2 बजे हुई जब फेक्ट्री के ऑफिस में अचानक शॉर्ट सर्किट हुआ, उसी ऑफिस में मौजूद सभी कर्मचारियों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया और ऑफिस में रखे कम्प्यूटर आदि को भी कोई ज्यादा नुक्सान नहीं हुआ यहाँ पर लकड़ी और मेटल के फर्नीचर बनाए जाते है और इस कंपनी में 2600 से अधिक लोग काम करते है।

     प्रदेश में बेरोजगारी को खत्म करने और युवाओं को अधिक से अधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए  मेगा जॉब फेयर का आयोजन किया हुआ। जयपुर और बीकानेर में सफल आयोजन के बाद उदयपुर में दो दिवसीय ‘राजस्थान मेगा जॉब फेयर’ का आगाज बुधवार को सुबह 9.30 बजे सुखाडि़या सर्किल स्थित रेलवे ट्रेनिंग ग्राउंड में होगा।मेगा जॉब फेयर में 15000 नौकरियों के अवसर 70 से अधिक कंपनियों द्वारा प्रदान किए जा रहे हैं जिनके लिए करीब 35000 प्रार्थियों ने अब तक ऑनलाइन पंजीयन कराया है। उन्होंने बताया कि जो व्यक्ति ऑनलाइन पंजीयन नहीं करवा पाए हैं उनके लिए मौके पर ही ऑफ़लाइन पंजीयन की सुविधा दी गई । ऐसे व्यक्ति वहीं रजिस्ट्रेशन काउंटर पर अपना पंजीयन करवा कर जॉब फेयर में शामिल हो सकते हैं।उदयपुर में बुधवार का दिन रोजगार मेले के नाम रहा। इसको लेकर सुबह से ही बेरोजगार युवाओं की रेलमपेल शहर की सडक़ों पर देखने को मिली। अनुभव और कौशल लेकर सुखाड़िया सर्कल स्थित रेलवे ट्रेनिंग ग्राउंड पर युवा पहुंचे तो उनके मनमाफी नौकरियां मिली। मेगा जॉब फेयर में दोपहर के बाद 80 से ज्यादा स्टॉलों पर पहले दिन सैकड़ों बेरोजगारों ने रजिस्टे्रशन के बाद साक्षात्कार दिए। प्रशासन की ओर से मेले में चाक-चौबंद व्यवस्था रही।पंजीयन के दौरान अभ्यर्थी अधिकतम तीन कंपनियों का चयन कर पाए। जॉब फेयर में प्रवेश के पश्चात अभ्यर्थियों को उनके द्वारा चयनित कंपनियों की स्टॉल पर इंटरव्यू के लिए पहुंचे और अपनी बारी का इंतजार करते रहे। विभिन्न डोम से गुजरने के बाद कंपनियों के स्टॉल पर पहुंचे और वहां इंटरव्यू दिया। चयनित व्यक्तियों को जॉब ऑफर लेटर दूसरे दिन गुरुवार को प्रदान किए जाएंगे।लेकसिटी में मेगा जॉब फेयर रोजगार के  पहले दिन आशानुरूप परिणाम निकलकर नहीं आए लेकिन फिर भी माना जा रहा है कि 40 हजार युवाओं में से करीब 15 हजार युवाओं को नौकरियां दी जाएगी। महाकुंभ के सफल बनाने के लिए राज्य स्तर से वरिष्ठ अधिकारी भी उदयपुर पहुंचे हैं। अधिकारियों ने आयोजन स्थल पर लगाए गए 80 से अधिक स्टाल्स पर बेरोजगारों को दी जाने वाली व्यवस्थाओं व साक्षात्कार लेने की प्रक्रिया के बारे में जानकारी ली।मेगा जॉब फेयर में दूसरे दिन गुरुवार को मुख्यमंत्री  बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करेंगे एवं युवाओं को जॉब लेटर से लाभान्वित करेंगे।  मुख्यमंत्री सुबह 11 बजे उदयपुर में आयोजित मेगा जॉब फेयर में पहुंचेंगे।

  • राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजनान्तर्गत माह दिसम्बर, 2022 के पेटे आवंटित खाद्यान्न के वितरण की अवधि 15 जनवरी, 2023 तक बढ़ा दी गयी है। दिसम्बर माह में गेहूं से वंचित रहे लोग अब गेहूं 15 जनवरी तक उचित मूल्य की दुकान से प्राप्त कर सकते हैं।  जिला कलक्टराें एवं जिला रसद अधिकारियों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के तहत दिसम्बर माह के पेटे आवंटित खाद्यान्न के वितरण की अवधि 15 जनवरी, 2023 तक बढाने के निर्देश दिये हैं। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के अन्तर्गत दिसम्बर माह के पेटे आवंटित खाद्यान्न का सम्पूर्ण उठाव 31 दिसम्बर, 2022 तक भारतीय खाद्य निगम के डिपो के सुचारू रूप से काम नहीं करने पर एवं गोदाम से डीलर तक पहुंचने में 24 घण्टे पश्चात् पोस मशीन में अपडेट होने के कारण उठाव नहीं हो पाया।  ऎसी परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुए राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के अन्तर्गत माह दिसम्बर के पेटे अवशेष रहे खाद्यान्न वितरण के लिए अवधि 15 जनवरी, 2023 तक बढ़ाई गयी है।

  • जवाहर कला केंद्र में 9 फरवरी से राजस्थान डेल्फिक खेलों का आयोजन किया जाएगा। इन खेलों में भाग लेने के लिए 8 जनवरी तक ऑनलाइन आवेदन किए जा सकेंगे। यह खेल शास्त्रीय संगीत, भारतीय फिल्म संगीत, लोकप्रिय संगीत, (भारतीय फिल्म संगीत के अलावा) शास्त्रीय नृत्य, लोक नृत्य, समकालीन नृत्य, फोटोग्राफी (2 श्रेणियाँ)  समेत कुल छह वर्गों में 13 फरवरी तक आयोजित किए जाएंगे। प्रत्येक वर्ग के लिए नगद पुरस्कार प्रदान किया जाएगा।डेल्फिक खेलों का आयोजन दो चरणों में होगा। पहला चरण ऑनलाइन होगा, जिसमें चयनित प्रतियोगी जवाहर कला केन्द्र में आयोजित होने वाले द्वितीय चरण के लिए योग्य होंगे। पात्र आवेदक 8 जनवरी, 2023 तक www.delphicrajasthan.org पर आवेदन कर सकते हैं । प्रतियोगियों का राजस्थान का मूल निवासी होना आवश्यक है। प्रतियोगी के लिए न्यूनतम आयु 18 वर्ष एवं अधिकतम आयु 1 जनवरी तक  35 वर्ष रखी गई है ।

  • कर्मचारी चयन बोर्ड ने  उच्च प्राथमिक विद्यालय अध्यापक सीधी भर्ती परीक्षा 2022 नोटिफिकेशन जारी किया    यह आवेदन कोर्ट की याचिका के अधीन  रहेंगे  एडिशनल वाले  अब ऑनलाइन आवेदन अब ऑनलाइन आवेदन भर सकेंगे
  • भारत और श्रीलंका के बीच तीन मैचों की श्रृंखला का दूसरा ट्वेंटी-ट्वेंटी क्रिकेट मुकाबला कल पुणे में होगा। मैच शाम 7 बजे से  खेला जाएगा।टीम इंडिया के, कल मुम्‍बई में कांटे की टक्‍कर के पहले मुकाबले में दो रन से जीत हासिल करने के बाद हौसले बुलंद हैं  श्रृंखला का तीसरा और अंतिम मैच शनिवार को राजकोट में होगा।
  • क्रिकेट खिलाड़ी ऋषभ पंत को उपचार के लिए अब मुंबई भेज दिया गया है।  उन्‍हें आज दोपहर विमान से मुंबई पहुंचा दिया गया है। बीसीसीआई उनके इलाज पर नज़र रखने के साथ चिकित्‍सीय टीम के साथ लगातार संपर्क में है। पिछले महीने की 30 तारीख को दिल्‍ली-देहरादून राजमार्ग पर कार दुर्घटना में घायल हुए क्रिकेट खिलाड़ी पंत का इलाज देहरादून के एक अस्‍पताल में चल रहा था।

 

  • सेंसेक्स
    बीएसई सूचकांक आज 637 अंकों की गिरावट के साथ 60 हजार एक सौ 657 पर बंद हुआ।
    निफ्टी 190 अंकों की गिरावट के साथर 18 हजार 042  पर बंद हुआ।
  • सर्राफा
    उदयपुर में दोनों कीमती धातुओं के भाव इस प्रकार रहे
    सोना 22 कैरेट 1 ग्राम₹5224
    सोना 24 कैरेट 1 ग्राम ₹5885
    चांदी 1 किलो बार का भाव रहा ₹74000
  • मौसम
  • कश्‍मीर घाटी में रात के समय तापमान शून्‍य डिग्री से कम चल रहा है, इसलिए घाटी में ठंड का प्रकोप जारी है। मौसम विभाग का कहना है कि प्रसिद्ध पर्यटन स्‍थल, पहलगाम में कल न्‍यूनतम तापमान शून्‍य से नौ दशमलव चार डिग्री कम रिकॉर्ड किया गया, जबकि श्रीनगर में तापमान शून्‍य से पांच दशमलव दो डिग्री कम रहा। डल झील कई स्‍थानों पर पानी जम गया। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में खुश्‍क, लेकिन कड़ाके की ठंड की आशंका व्‍यक्‍त की है।
  • समूचे उत्‍तर भारत में तीव्र शीतलहर चल रही है। मौसम विभाग ने कहा है कि अगले चार-पांच दिनों तक देश के उत्‍तर पश्चिम हिस्‍से में बहुत अधिक घना कोहरा छाए रहने के साथ कड़ाके की ठंड जारी रहेगी। उत्‍तर पश्चिम भारत और मध्‍य प्रदेश के भागों में न्‍यूनतम तापमान 2 से 6 डिग्री सेल्सियस के बीच है। अगले चार पांच दिनों तक पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्‍ली और उत्‍तर प्रदेश में भारत के गांगेय मैदानों में हल्‍की हवाएं चलने और अधिक नमी के कारण बहुत अधिक घना कोहरा छाया रहेगा। मौसम विभाग ने कहा कि अगले तीन दिनों तक उत्‍तर पश्चिम भारत में शीतलहर की स्थिति बनी रहेगी और इसके बाद स्थिति में सुधार होगा।
  • पहाड़ों में भारी बर्फबारी और उत्तर से चल रही ठंड़ी हवाओं से दक्षिणी राजस्थान इन दिनों शीतलहर की गिरफ्त में है। ठिठुरन एवं गलन ने जनजीवन को झकझोर कर रख दिया है। कड़ाके की सर्दी का असर दिनचर्या एवं खानपान पर भी दिखने लगा है। मौसम विभाग की माने तो 4 से 8 जनवरी तक शीतलहर चलने की संभावना है।

    यदि पारा अधिक गिरेगा तो सरसों में पाला पड़ने का खतरा है। तीन दिन से सुबह धुंध के साथ कोहरा भी बढ़ गया है। सर्द हवा के चलते धूप में भी दोपहर तक तेजी महसूस नहीं हो रही है। दोपहर फौरी राहत के बाद शाम 5 बजे बाद सर्दी का जोर फिर बढ़ जाता है। यही नहीं सर्दी के चलते मॉर्निंग वॉक पर जाने वालों की संख्या घट गई है या वे देर से घूमने जाने लगे हैं।

     उदयपुर में अधिकतम तापमान 21 और न्यूनतम तापमान 7.2 डिग्री सेल्सियस रहा। शीत लहर चलने के कारण दिनभर मौसम में गलन रही। राहत की बात यह है कि उदयपुर में प्रदेश के अन्य जिलों की तुलना में शीतलहर का असर कम है। मौसम केंद्र ने अलवर, भरतपुर, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़, झुंझुनुं, करौली, सीकर, बीकानेर, चूरू, गंगानगर और नागौर जिलों में अत्यधिक शीतलहर चलने का येलो अलर्ट जारी किया है। इन जिलों में तेज सर्दी के कारण पाला पड़ने की संभावना बनी हुई है। मौसम विभाग द्वारा शीतलहर के साथ अगले चार दिनों में कोहरे और धुंध का असर बढ़ने की भी संभावना हैं। कोहरे के चलते यातायात प्रभावित हो सकता है। विशेषज्ञों द्वारा सर्दी को देखते हुए बच्चों और वृद्धजनों का विशेष ख्याल रखने की सलाह दी जा रही है।

    वही सप्ताह भर से तापमान में आई गिरावट से रबी फसलों में गेहूं दमक उठा है तो सब्जियों की फसलों पर आंशिक प्रभाव पड़ा है। ठंडी हवा चलने से चने पर भी इसका प्रभाव पड़ सकता है। कृषि विभाग की रिपोर्ट के अनुसार हालांकि अभी फसलों में किसी तरह का खराबा दर्ज नहीं किया गया है।

     कृषि पर्यवेक्षक फील्ड में निगरानी रखे हुए हैं। जिले में इस बार रबी की बुवाई करीब एक लाख 50 हजार हैक्टेयर में हुई, जिसमें सर्वाधिक रकबा गेहूं का है। जिले में गेहूं की बुवाई 80 हजार हैक्टेयर में हुई। शेष 10 से 12 हजार हैक्टेयर में चना एवं 10 से 12 हजार हैक्टेयर में चारा व अन्य सब्जियों की बुवाई हुई है। कृषि विशेषज्ञों का कहना है कि इस ठण्डक से गेहूं की वृद्धि दर अच्छी – होगी। सरसों पर अब कोई हानिकारक प्रभाव देखने में नहीं आया हैं।

  • पिछले 24 घंटों के दौरान उदयपुर शहर का तापमान रहा अधिकतम 11  डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम  5 डिग्री सेल्सियस
  • तो ये थीं अब तक की अपडेट्स हम फिर आएंगे और अपडेट्स लेकर बने रहिए हमारे साथ…

Leave a Reply

Your email address will not be published.