• Sun. Jun 16th, 2024

Udaipur News

Udaipur News Today | Udaipur News Live | उदयपुर न्यूज़ | उदयपुर समाचार

Udaipur Latest News 06 August 2023 उदयपुर की ताजा खबर Udaipur Latest News 06 August 2023 उदयपुर की ताजा खबर Udaipur Latest News 06 August 2023 उदयपुर की ताजा खबर

Byadmin

Aug 6, 2023
  • हेलो फ्रेंड्स हम हाजिर हैं आज की अपडेट्स लेकर..
  • जापान के प्रधानमंत्री  ने विश्‍व के पहले एटम हमले की 78वीं वर्षगांठ पर आज जापान के हिरोशिमा में आयोजित एक समारोह में कुछ समय के लिए मौन रखा। दूसरे विश्‍व युद्ध के दौरान 6 अगस्‍त 1945 में अमरीका का एक बी-29 सूपर फॉरट्रेस एनोला गे ने लिटिल बॉय नाम के कोड से एक एटम बम जापान के हिरोशिमा पर गिराया था, जिसमें करीब एक लाख 40 हजार मृत्‍यु हुई थी। 6 अगस्‍त को दुनिया भर के लोग न्‍यूक्‍लीयर युद्ध के प्रभाव को याद करते हुए शांति और हथियार रहित वैश्विक एकता का आहवान करते हैं।
  • पाकिस्‍तान के दक्षिण सिंध प्रांत में आज हुए रेल हादसे में कम से कम 30 लोग मारे गये है और 80 से अधिक घायल हो गये। कराची से एबटाबाद जा रही हजारा एक्‍सप्रेस के 10 डिब्‍बे सहारा स्‍टेशन के पास पटरी से उतर गये।  बचाव दल राहत कार्य के लिए दुर्घटनास्‍थल पर पहुंच गये हैं।
  • अंतरिक्ष में एक बेहद हैरान करने वाली  घटना में वैज्ञानिकों ने सूर्य से निकले कोरोनल मास इजेक्शन (CME) को देखा। लेकिन हैरानी की बात रही कि यह पृथ्वी, चांद और मंगल ग्रह तक पहुंचा। यह CME 28 अक्टूबर 2021 को हुआ था, जिससे निकलने वाले चार्ज्ड कणों का प्रवाह पृथ्वी और मंगल दोनों पर देखा गया। इस दौरान दोनों ही ग्रह एक दूसरे के विपरीत थे और लगभग 25 करोड़ किमी दूर थे। इसके बावजूद यह कण दोनों ग्रहों पर पहुंचे।इस घटना को तीनों जगहों पर मौजूद अलग-अलग यंत्रों ने देखा। सौर तूफान को यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी के एक्सोमार्स ट्रेस गैस ऑर्बिटर, मंगल पर मौजूद नासा के मार्स रोवर, चीन के चांग’ई-4 मून लैंडर और नासा के लूनर रिकोनाइसेंस ऑर्बिटर सहित अंतरिक्ष के कई अन्य यानों ने कैद किया। वैज्ञानिकों का मानना है कि तीनों ही जगहों पर हुई यह घटना सौर विस्फोटों के प्रभावों के बारे में समझ को बढ़ाने में महत्वपूर्ण है। इससे यह समझने में मदद मिलेगी कि कैसे एक ग्रह का चुंबकीय क्षेत्र और वातावरण अंतरिक्ष यात्रियों को सौर रेडिएशन से बचा सकता है।
  • इस घटना को दुर्लभ ग्राउंड लेवल इनहैंसमेंट के रूप में वर्गीकृत किया गया है। इसमें सूर्य से निकले कणों में इतनी ऊर्जा होती है कि वह पृथ्वी की सुरक्षा करने वाली चुंबकीय क्षेत्र में प्रवेश कर सकते हैं। 1940 के दशक से सूर्य के विस्फोटों का रिकॉर्ड रखा जा रहा है, और तब से इस तरह की घटना का यह 73वां मौका है। क्योंकि चंद्रमा और मंगल का चुंबकीय क्षेत्र कमजोर हैं, ऐसे में सौर कण आसानी से उनकी सतह तक पहुंच सकते हैं और मिट्टी में सेकेंड्री रेजिएशन पैदा करते हैं।मंगल ग्रह के पास अपना पतला वायुमंडल है, जो ज्यादातर कम ऊर्जा वाले सौर कणों को रोक देते हैं और ज्यादा ऊर्जावान कणों को धीमा कर देते हैं। चंद्रमा और मंगल पर भविष्य में इंसान जाना चाहते हैं। ऐसे में उनके शरीर पर इसका संभावित प्रभाव क्या होगा, यह समझना बेहद जरूरी है। अंतरिक्ष यात्रियों को रेडिएशन बीमारी से खतरे का सामना करना पड़ता है। 700 मिलीग्राम से ज्यादा का रेडिएशन इंटरनल ब्लीडिंग का कारण बन सकता है। अगर अंतरिक्ष यात्री को 10 से ज्यादा ग्रे का रेडिएशन मिले तो दो हफ्ते से कम जिंदा रहने की संभावना बनती है।

     मामला उदयपुर के सायरा इलाके में   खुद को भगवान शिव का अवतार बताकर 60 साल के व्यक्ति ने 85 साल की महिला की हत्या कर दी। हत्या से पहले आरोपी बुजुर्ग महिला पर छाते से वार किए। महिला के सीने पर मुक्के मारे।। घटना 5 अगस्त की है। इसका VIDEO रविवार को सामने आया है। तरपाल निवासी आरोपी प्रताप सिंह को गिरफ्तार कर लिया है।  सायरा निवासी महिला  5 अगस्त को सुबह पीहर (जारोली) जाने के लिए निकली थी। हमराई के पास आरोपी ने महिला को आते देखा और पकड़कर खुद को भगवान शिव का अवतार बताने लगा। इस दौरान यहां बकरी चराने आए शख्‍स ने आरोपी को देखा और सोचा कि वह महिला से मजाक कर रहा है।

    जब आरोपी उसे पीटने लगा तब बकरी चराने आए शख्‍स ने इसे बचाने का प्रयास किया। आरोपी नहीं रुका। तभी पास में 2 और नाबालिग बकरी चरा रहे थे। उन्होंने इसका वीडियो बना लिया। एसपी ने कहा कि पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह शराब के नशे में था और उसने सोचा वह भगवान का अवतार है और महिला को मारकर फिर से जिंदा कर देगा।आरोपी ने महिला पर उसी के छाते से ताबड़तोड़ वार करने शुरू कर दिए। महिला लहूलुहान हो गई। इसके बाद भी आरोपी पीटता रहा। उसने महिला के सीने पर मुक्के भी मारे। थोड़ी देर बाद महिला अचेत हो गई।

  •  पूरे उत्तर भारत में इन दिनों आई फ्लू का संक्रमण फैला हुआ है। आंख की सूजन और लाली को जल्दी ठीक करने के लिए कई डॉक्टर मरीजों को स्टेरॉयड भी दे रहे हैं। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान-एम्स के डॉक्टरों का कहना हैं कि स्टेरॉयड देने से आई फ्लू में आंखों को जल्द आराम तो मिल जाता है, लेकिन बाद में इससे आंखों को नुकसान होने और रोशनी कमजोर होने का खतरा रहता है। इसलिए एम्स के नेत्र विज्ञान केंद्र ने मरीजों को स्टेरॉयड नहीं देने की सलाह दी है।एम्स के नेत्र विज्ञान केंद्र के प्रमुख डॉ. ने कहा कि आंखों में स्टेरॉयड युक्त आई ड्रॉप का इस्तेमाल करने से दो सप्ताह बाद कॉर्निया पर धब्बे आने और आंखों का प्रेशर बढ़ाने का खतरा रहता है। इसलिए एम्स ने अपने इलाज के प्रोटोकॉल में स्टेरॉयड को शामिल नहीं किया है। बहुत आवश्यक होने पर ही मरीजों को स्टेरॉयड देना चाहिए। डॉक्टर ने कहा कि एंटीबायोटिक का इस्तेमाल भी उचित तरीके से होना चाहिए। किसी एक को आई फ्लू होने पर परिवार के कई अन्य सदस्य की आंखों में भी इसका संक्रमण हो जाता है। ऐसी स्थिति में एक ही आई ड्रॉप परिवार के सभी सदस्य इस्तेमाल करते हैं। इससे क्रॉस संक्रमण होने का खतरा रहता है। इसलिए हर मरीज को अलग-अलग आई ड्रॉप इस्तेमाल करना चाहिए। 20 से 30 प्रतिशत मरीजों में एडिनोवायरस के अलावा बैक्टीरिया का संक्रमण भी देखा जा रहा है। ऐसे मरीजों को एंटीबायोटिक दी जा सकती है।
  • अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत प्रधानमंत्रीने वर्चुअल माध्यम से उदयपुर के राणाप्रताप नगर रेलवे स्टेशन पर पुनर्विकास कार्यों का शिलान्यास किया ।
  •  अमृत भारत स्टेशन योजना के अंतर्गत अजमेर मंडल के 10 स्टेशनों के विकास कार्य होंगे। इसके तहत उदयपुर संभाग के पांच स्टेशनों का भी विकास होगा। इनमें चंदेरिया स्टेशन भी शामिल है तो वेस्टर्न रेलवे के अधीन आता है।  अमृत भारत स्टेशन योजना के अंतर्गत अजमेर मण्डल के 10 स्टेशनों में उदयपुर संभाग के राणा प्रताप नगर, मावली, कपासन, डूंगरपुर स्टेशन है  मावली जंक्शन स्टेशन पर 20.99 करोड़, राणा प्रताप नगर स्टेशन पर 20.86 करोड़, कपासन स्टेशन पर 16.39 करोड़, डूंगरपुर स्टेशन पर 18.4 करोड़ रुपए और वेस्टर्न रेलवे के चंदेरिया स्टेशन पर 21 करोड़ से विकास कार्य होंगे। इनमें से अलग-अलग स्टेशनों पर कुछ कार्य चल रहे हैं तो कुछ पूरे हो चुके हैं।
  • मुख्यमंत्री सोमवार (7 अगस्त) को वर्चुअल माध्यम से नवसृजित जिलों की सभी धर्मगुरूओं की उपस्थिति में विधि-विधान से स्थापना करेंगे। नव सृजित जिलों में स्थापना समारोह की अध्यक्षता विभिन्न मंत्रीगण करेंगे।इन जिलों की होगी स्थापना- अनूपगढ़, गंगापुर सिटी, कोटपूतली-बहरोड़, बालोतरा, खैरथल-तिजारा, ब्यावर, जयपुर ग्रामीण, नीमकाथाना, डीग, फलौदी, डीडवाना-कुचामन, जोधपुर ग्रामीण, सलूम्बर, दूदू, केकड़ी, सांचौर, शाहपुरा
  • राज्यपाल  ने राज्य के तीन विश्वविद्यालयों में कुलपति पद पर नियुक्ति के आदेश जारी किए हैं। राज्यपाल  ने विश्वविद्यालयों की कुलपति खोजबीन समिति की सिफारिश पर राज्य सरकार के परामर्श से यह नियुक्तियां की हैं।
  • राज्यपाल  द्वारा जारी आदेश के अनुसार बाबा साहब भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय (केंद्रीय विश्वविद्यालय), लखनऊ की प्रोफेसर एवं डीन होम साइंस विभाग डॉ. सुनीता मिश्रा को मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय उदयपुर का, जीवाजी विश्वविद्यालय, ग्वालियर के वाणिज्य एवं व्यवसाय अध्ययन शाला के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर केशव सिंह ठाकुर को गोविंद गुरु जनजाति विश्वविद्यालय बांसवाड़ा का तथा लखनऊ विश्वविद्यालय के लोक प्रशासन विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर मनोज दीक्षित को महाराजा गंगा सिंह विश्वविद्यालय, बीकानेर का कुलपति नियुक्त किया गया है। राज्यपाल  ने इनकी नियुक्ति कार्यभार संभालने की तिथि से 3 वर्ष या 70 वर्ष की आयु प्राप्त करने तक इनमें से जो भी पहले के लिए की है।
  • बिजली की घोषित व अघोषित कटौती, ट्रांसफार्मर बंद व खराब होने तथा लाइनें बंद होने से जिलेभर में लोग परेशान हैं। इनमें सबसे अधिक शिकायतें बिजली की अघोषित कटौती की है, जिससे जिलेभर के उपभोक्ता परेशान हैं। लेकिन जिला मुख्यालय पर मौजूद अफसर कटौती से इनकार कर रहे हैं।
  • मौसम
  • राजस्थान में मानसून कमजोर हो गया है। मौसम केंद्र जयपुर ने बताया कि राज्य में आगामी दिनों में कमजोर मानसून परिस्थितियां रहने की प्रबल संभावना है। पूर्वी राजस्थान के कोटा, उदयपुर, अजमेर, जयपुर व भरतपुर संभाग में आगामी तीन-चार दिन अधिकांश भागों में मौसम मुख्यतः शुष्क रहने और केवल छुटपुट स्थानों पर हल्की बारिश होने की संभावना है।
  • वहीं पश्चिमी राजस्थान के जोधपुर व बीकानेर संभाग के अधिकांश भागों में आगामी एक सप्ताह के दौरान मौसम मुख्यतः शुष्क रहने तथा अपेक्षाकृत तेज सतही हवाएं 25 से 30 किलोमीटर प्रतिघंटा चलने की प्रबल संभावना है। मानसूनी टर्फलाइन अमृतसर से गोरखपुर होते हुए मणिपुर जा रही है। इस समय एक पश्चिमी विझोभ का सिस्टम भी जम्मू कश्मीर और पकिस्तान में बना हुआ है। सात दिनों में अधिकतम तापमान में परिवर्तन नहीं आएगा।

     

    10 अगस्त- पूर्वी राजस्थान के जयपुर, अजमेर, कोटा, उदयपुर और भरतपुर में कुछ स्थानों पर और पश्चिमी राजस्थान के बीकानेर और जोधपुर में कहीं कहीं वर्षा होने की संभावना है।11 अगस्त- पूर्वी राजस्थान के जयपुर, अजमेर, कोटा, उदयपुर और भरतपुर में कुछ स्थानों पर और पश्चिमी राजस्थान के बीकानेर और जोधपुर में कहीं कहीं वर्षा होने की संभावना है।12 अगस्त-पूर्वी राजस्थान के जयपुर, अजमेर, कोटा, उदयपुर और भरतपुर में हल्की और पश्चिमी राजस्थान के बीकानेर और जोधपुर में कुछ स्थानों पर बारिश होने की संभावना है।

  • उदयपुर में  पिछले 24 घंटों के दौरान  तापमान रहा अधिकतम 27 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम  23 सेल्सियस
  • तो ये थीं अब तक की अपडेट्स हम फिर आएंगे और अपडेट्स लेकर बने रहिए हमारे साथ..

Leave a Reply

Your email address will not be published.