• Thu. May 30th, 2024

Udaipur News

Udaipur News Today | Udaipur News Live | उदयपुर न्यूज़ | उदयपुर समाचार

Udaipur Latest News 07 June 2023 उदयपुर की ताजा खबर Udaipur Latest News 07 June 2023 उदयपुर की ताजा खबर Udaipur Latest News 07 June 2023

Byadmin

Jun 7, 2023
  • हेलो फ्रेंड्स हम हाजिर हैं आज की अपडेट्स लेकर….
  • आज विश्‍व खाद्य सुरक्षा दिवस है विश्व स्वास्थ्य संगठन, हर साल 7 जून को ‘खाद्य सुरक्षा दिवस’ यानी वर्ल्ड फ़ूड सेफ़्टी डे के रूप में मनाता है.। भोजन से संबंधित जोखिम, मानव स्‍वास्‍थ्‍य को हानि, आर्थिक समृद्धि, कृषि और सतत विकास जैसे मुद्दों का पता लगाने और उनके प्रबंधन पर ध्‍यान आकर्षित करने के लिए यह दिन मनाया जाता है। यह दिन हमें इस बात पर विचार करने का अवसर भी प्रदान करता है कि हम जो भोजन करते हैं, वह मानव स्‍वास्‍थ्‍य के लिए सुरक्षित हो। इस वर्ष के विश्‍व खाद्य सुरक्षा दिवस का विषय है-खाद्य मानक जीवन सुरक्षित बनाते हैं। विश्‍व खाद्य सुरक्षा दिवस के हिस्‍से के रूप में नई दिल्‍ली में केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री  ने  आज राज्‍य खाद्य सुरक्षा सूचकांक जारी किया यह सूचकांक भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण द्वारा हर वर्ष जारी किया जाता है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन  के मुताबिक़, पूरी दुनिया में हर साल औसतन 16 लाख लोग फूड पॉयज़निंग का शिकार होते हैं, या ख़राब खाना खाकर बीमार पड़ते हैं.और, दुनिया भर में प्रदूषित खाने से हर दिन औसतन 340 बच्चों की जान चली जाती है.आम तौर पर, पका, कम पका या कच्चा मांस, वो सब्ज़ियां जो ठीक से धोई नहीं जातीं, कच्चा दूध और दूध से बने उत्पाद, लंबे समय तक रखे गए अंडे, वो मछलियां जिन्हें ठीक से साफ़ नहीं किया गया हो, गंदा अंकुरित अनाज, लंबे वक़्त तक रखा हुआ गुंधा आटा..ये वो चीज़ें हैं जिनके सेवन से फ़ूड पॉयज़निंग हो सकती है.

  • जब कोई कम पका या कच्चा मांस खाता है, तो उसके फूड पॉयज़निंग के शिकार होने का ख़तरा बढ़ जाता है. क्योंकि, इसमें कैम्पिलोबैक्टर नाम के कीटाणु (बैक्टीरिया) होते हैं.कई बार कच्चे या अधपके मांस में ईसर्शिया कोलाई, साल्मोनेला और क्लॉस्ट्रिडियम परफ्रिंजेस नाम के बैक्टीरिया भी पाए जाते हैं.इसीलिए, सेंटर फॉर डिज़ीज़ कंट्रोल ऐंड प्रिवेंशन ये सुझाव देता है कि कच्चे मांस को कभी धोना नहीं चाहिए.CDC के मुताबिक़, “कच्चा मांस धोने से उसमें मौजूद बैक्टीरिया आस-पास के बर्तनों में फैल जाते हैं. इससे पूरी रसोई संक्रमित हो सकती है.” सीडीसी का कहना है कि मांस ठीक से पकाया जाए, तो उसके बैक्टीरिया खत्म हो जाते हैं.CDC का सुझाव है कि अगर खाने के बाद खाना बच जाए, तो उसे दो घंटे के भीतर फ्रिज में रख देना चाहिए.

    ताज़ा हरी सब्ज़ियां खाने के कई फ़ायदे हैं. हालांकि कई बार ये सब्ज़ियां कई तरह की बीमारियों और संक्रमण की वजह बन जाती हैं.कच्ची सब्ज़ियों में ई. कोलाई, साल्मोनेला और लिस्टेरिया जैसे बैक्टीरिया हो सकते हैं. कच्ची सब्ज़ियों के खेत से रसोई तक पहुंचने के दौरान हर जगह इनके बैक्टीरिया से संक्रमित होने का ख़तरा बना रहता है.कई बार, हरी सब्ज़ियां रसोई की गंदगी से भी संक्रमित हो जाती हैं.इसीलिए, हरी कच्ची सब्ज़ियों को ठीक से धो लेने के बाद ही खाना चाहिए.ये बात भी बेहद अहम है कि जो सब्ज़ियां आप खाते हैं, वो उगाई कहां जाती हैं?”आजकल सब्ज़ियों की खेती बेहद असुरक्षित माहौल में की जाती है. उन पर कई तरह के कीटनाशक छिड़के जाते हैं. इसीलिए, सब्ज़ियों और फलों को नमक डले हुए पानी में अच्छे से धोने के बाद ही इस्तेमाल करना चाहिए. वरना उनसे एलर्जी या संक्रमण होने का ख़तरा हमेशा बना रहता है.”

    हमें मुख्य रूप से साफ़-सफ़ाई के बारे में बात करनी चाहिए. हम अक्सर ये ख़बर सुनते हैं कि लोगों को पानी पूरी खाने के बाद फूड पॉयज़निंग हो गई और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा. इसकी सबसे बड़ी वजह साफ़ सफ़ाई की कमी होती है.””या तो ये सब बेचने वाले उन सब्ज़ियों को ठीक तरह से साफ़ नहीं करते, जिनका इस्तेमाल वो करते हैं. या फिर जहां वो पकाते हैं, वो जगह साफ़ नहीं होती.”ये भी हो सकता है कि पानी पूरी या चाट बेचने वाला ख़ुद अपनी भी साफ़-सफ़ाई का ख़याल न रखता हो. इससे भी संक्रमण फैलता है.”

    ग़ैर पाश्चुराइज़्ड दूध और उससे बनी चीज़ों से भी फूड पॉयज़निंग का ख़तरा होता है.ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि कच्चे दूध में ई. कोलाई, कैंपिलोबैक्टर, क्रिप्टोस्पोरिडियम, लिस्टेरिया और साल्मोनेला जैसे बैक्टीरिया मौजूद हो सकते हैं.इस तरह के दूध से बनी आइसक्रीम और दही भी नुक़सानदेह हो सकते हैं.दूध को पाश्चुराइज़ करने या फिर उसे उबालने से उसमें मौजूद बैक्टीरिया ख़त्म हो जाते हैं.दूध को गर्म करने से पौष्टिक तत्वों में कोई ख़ास फ़र्क़ नहीं पड़ता है. कच्चा दूध पीने से आंत की टीबी होने का ख़तरा भी बहुत होता है.बहुत से लोग कहते हैं कि दूध, कच्चा ही पीना चाहिए. वो इसके पक्ष में बच्चों के मां का दूध पीने की मिसाल देते हैं.”हालांकि, मां के दूध और किसी जानवर के दूध में अंतर होता है.गाय या भैंस दुहने वाले ने साफ़-सफ़ाई का कितना ख़याल रखा था. उसने हाथ साबुन से धुले थे या नहीं. उसने किस तरह के बर्तन में दूध दुहा था? दुहने के बाद दूध को कहां रखा गया था? ये बातें काफ़ी मायने रखती हैं. इसीलिए, बेहतर यही होता है कि दूध को गर्म करने के बाद ही पिया जाए”

    कच्चे अंडों में साल्मोनेला बैक्टीरिया होते हैं. ये बैक्टीरिया अंडे में तब भी मौजूद हो सकते हैं, जब वो एकदम साफ़ दिख रहा हो और उसके छिलके में कोई दरार न पड़ी हो.इसीलिए, जानकार सलाह देते हैं कि पाश्चुराइज़्ड या उबले अंडे ही इस्तेमाल करने चाहिए. CDC सलाह देता है कि अंडे को तब तक उबाला जाना चाहिए, जब तक उसकी सफ़ेदी और ज़र्दी, दोनों सख़्त न हो जाएं.

    सीडीसी की सलाह है कि अंडों को फ्रिज में रखते वक़्त फ्रिज का तापमान अंडों के हिसाब से सेट करना चाहिए.जहां तक मुमकिन हो ताज़े अंडे ही इस्तेमाल किए जाने चाहिए.कई बार बहुत दिनों तक रखे रहने से अंडे टूट जाते हैं. ऐसे अंडे खाने से कई तरह के संक्रमण हो जाते हैं. इसलिए बेहतर यही है कि अंडे ख़रीदते वक़्त उनकी तारीख़ देख ली जाए और जहां तक संभव हो ताज़े अंडे ही इस्तेमाल किए जाएं.”

    कच्ची मछलियों में बैक्टीरिया के साथ साथ कई तरह के वायरस भी होते हैं. इसलिए अगर मछली को कच्चा ही खाया जाए तो कई तरह की बीमारियां होने या फिर कई बार जान तक जाने का डर होता है.इसीलिए,  मछली को अच्छे से धोकर औरपकाकर ही खाना चाहिए.प्रदूषित पानी में पैदा होने वाले प्रॉन में नोरोवायरस हो सकते हैं. इसीलिए, उनको ठीक से धोकर, तब तक पकाया जाना चाहिए, जब तक उनकी कच्ची बदबू ख़त्म न हो जाए.’

    “कच्ची मछली तो कभी खानी ही नहीं चाहिए. यही बात मछलियों से बनी दवा पर भी लागू होती है. मछलियां कैसे पाली जाती हैं? उन्हें पकड़ने वाले अपनी साफ़-सफ़ाई का कितना ख़याल रखते हैं? इन बातों का ध्यान रखना चाहिए.”

    अंकुरित अनाज आपकी सेहत के लिए बहुत अच्छे होते हैं. वो हल्की गर्मी और नमी में तैयार होते हैं. हालांकि, ऐसे माहौल में बैक्टीरिया भी बड़ी तेज़ी से पनपते हैं.इसका नतीजा ये होता है कि कई बार स्प्राउट में साल्मोनेला जैसे बैक्टीरिया हो सकते हैंअंकुरित अनाजों के मामले में हमें इन बातों का ध्यान रखना चाहिए: जैसे कि, स्प्राउट कब से रखे हुए थे? वो खुली हवा में कितनी देर रहे थे?स्प्राउट को पानी में बहुत देर तक नहीं भिगोना चाहिए. इसी तरह उन्हें बंद जगहों पर भी लंबे वक़्त तक नहीं रखा जाना चाहिए. जिस जगह हवा की आवाजाही अच्छी होती है, वहां पर स्प्राउट में बैक्टीरिया पनपने का डर कम होता है.”

    गेहूं का आटा हो या किसी और तरह का, उसे गूंथकर रखने से कई तरह के बैक्टीरिया पनप सकते हैं. इसीलिए कच्चे गुंथे आटे को फ़ौरन ही इस्तेमाल करना चाहिए.उसे गूंथकर अगले दिन इस्तेमाल कभी नहीं करना चाहिए.आटा जितना ताज़ा गुंथा हुआ होगा, उतना ही सेहतमंद होगा. सब्ज़ियां हों या गुंधा आटा, उन्हें किचन में बहुत देर तक नहीं रखा जाना चाहिए. क्योंकि जैसे जैसे वक़्त बीतता है उनमें बैक्टीरिया पनपने लगते हैं.””इसलिए रखे हुए गुंथे आटे से संक्रमण फैलने का ख़तरा अधिक होता है.”

    इसके साथ साथ, इस बात का भी ख़याल रखना चाहिए कि बैक्टीरिया या फूड पॉयज़निंग के डर से साफ़-सफ़ाई का ख़याल सनक की तरह सिर पर सवार न हो.बैक्टीरिया हमारे लिए हमेशा ख़राब ही नहीं होते. वो हमारी इम्युनिटी यानी बीमारियों से लड़ने की ताक़त बढ़ाते हैं. हमारे पेट में बहुत से बैक्टीरिया होते हैं. वो हमें कई जानलेवा संक्रमणों से बचाते हैं.”

    टेक्नॉलजी के क्षेत्र की शीर्ष कंपनी ने  बहुप्रतीक्षित ऑगमेंटेड रिएलिटी हेडसेट विज़न प्रो लॉन्च कर कर दिया है.यह पिछले एक दशक मेंकंपनीका कोई हार्डवेयर लॉन्च भी है.‘ये नया हेडसेट वर्चुअल वर्ल्ड और वास्तविक दुनिया को बहुत सरलता से मिला देता है.’नया ऑपरेटिंग सिस्टम और मैकबुक एयर लैपटॉप के लिए अपडेट भी पेश किया है.ये हेडसेट एक बार चार्ज होने पर दो घंटे चल सकेगा. इसकी क़ीमत 3499 डॉलर यानी लगभग दो लाख 80 हज़ार रुपये रखी गई है. इसे अगले साल की शुरुआत में अमेरिका के बाज़ार में उतार दिया जाएगा. ये नई तकनीक इस समय सिलिकॉन वैली में चर्चा का केंद्र है.कंपनी ने इस नए डिवाइस का विवरण देते हुए ‘ऑगमेंटेड रियलटी’ टर्म का इस्तेमाल किया है.ऑगमेंटेड रिएलिटी यानी संवर्धित वास्तविकता एक ऐसी तकनीक है, जिसमें हमारे आसपास की दुनिया में वर्चुअल चीज़े रख दी जाती हैं. ऐसे में एक स्क्रीन के ज़रिए देखने पर मिलीजुली वास्तविकता दिखाई देती है जिसमें वास्तविक चीज़ों के अलावा वर्चुअल चीज़े भी होती हैं.यूज़र एक वर्चुअल दुनिया में फ़िल्में देख सकते हैं, ऐप का इस्तेमाल कर सकते हैं या दस्तावेज़ लिख सकते हैं. ये हेडसेट लोगों को डिज़िटल कॉन्टेंट को इस तरह देखने, सुनने और इंटरएक्ट करने का मौक़ा देता है, जैसे वो उनकी वास्तविक दुनिया का हिस्सा हो.इस डिवाइस को हाथों, आंखों और आवाज़ से नियंत्रित किया जाता है.मिसाल के तौर पर उंगलियों को छूने या हिलने से कॉन्टेंट को स्क्रॉल किया जा सकता है. अपने पहले से मौजूद वर्चुअल रिएलिटी हेडसेट के नए रूप पेश करने के सप्ताह भर बाद ही कंपनीने ये घोषणा की है. .

    विज़न प्रो की घोषणा के साथ ही कंपनी ने नया ऑपरेटिंग सिस्टम आईओएस 17 भी पेश किया है. ये आईफ़ोन का सबसे ताज़ा ऑपरेटिंग सिस्टम होगा.इसके अपडेट में कांटेक्ट पोस्टर भी शामिल हैं. आप जब किसी को कॉल करेंगे तो उसकी स्क्रीन पर आपका चेहरा दिखाई देगा. इसके अलावा लाइव वॉयसमेल भी उपलब्ध होगा. इसमें आपके लिए छोड़े गए संदेश को रियल टाइम में ट्रांसक्रिप्ट (शब्दों में लिखना) किया जाएगा.कंपनी ने मैसेज के तहत भेजे गए ऑडियो मैसेज के लिए भी ये सुविधा उपलब्ध होगी.

    कंपनी चैक-इन नाम का नया सिस्टम भी पेश करने जा रही  है. इसके ज़रिए किसी जगह पहुंचने पर आपके दोस्तों और परिजनों को मैसेज चला जाएगा कि आप पहुंच चुके हैं.अगर आपको कुछ ज़्यादा ही देर हो रही है तो ये सिस्टम आपके दोस्तों या परिजनों को बता देगा कि अभी तक आप सुरक्षित नहीं पहुंचे हैं.नया ऑपरेटिंग सिस्टम इस साल सितंबर में उपलब्ध हो सकता है.

    लेकसिटी का रेलवे स्टेशन बदलेगा फूड कोर्ट, शॉपिंग कोर्ट, कैफेटेरिया, वेटिंग एरिया, प्ले एरिया बनेंगे

  • उदयपुर शहर में बुधवार को वकीलों ने सड़क पर उतरकर मौन जुलूस निकाला।  उदयपुर में हाईकोर्ट बैंच खोलने की मांग को लेकर उन्होंने मौन रहकर विरोध जताया।हाईकोर्ट बेंच की स्थापना होने तक वर्चुअल हाई कोर्ट बेंच शुरू करने की मांग की गई। जुलूस के बाद वकील सीधे जिला कलेक्टर से मिले और उनको ज्ञापन दिया।उदयपुर में हाईकोर्ट बेंच की मांग को लेकर पिछले 42 वर्षों से आंदोलन चल रहा है।
  • मुख्यमंत्री लोक कलाकार प्रोत्साहन योजना-2023 के अंतर्गत राजस्थान के स्थानीय या देशज कला के कलाकारों को 100 दिन का रोजगार दिया जाएगा।
    ये कलाकार गायन, वादन, नृत्य, अभिनय या नाटक करने वाले होंगे जो राज्य सरकार के कार्यक्रमों, उत्सवों में 100 दिन के कला प्रदर्शन की मांग कर सकेंगे। योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए राजस्थान संगीत नाटक अकादमी को नोडल एजेन्सी बनाया गया है।
    उदयपुर के प्रताप नगर थाना क्षेत्र में एक ऑटो चालक की लापरवाही के चलते हादसा हो गया। हादसे में एक मासूम घायल हो गया जिसने उदयपुर के एमबी अस्पताल में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया।  जानकारी के अनुसार दो वर्षीय मासूम के  परिजन निवासी फलावा निम्बाहेड़ा  अपने रिश्तेदारों से मिलने के लिए उदयपुर आए हुए थे। शनिवार को अपने रिश्तेदारों से मिल ऑटो में बैठ राणा प्रताप रेलवे स्टेशन जा रहे थे उसी दौरान ऑटो चालक ने ट्रक से आगे निकलने की कोशिश की और ट्रक का पीछे वाला हिस्सा ऑटो के लग गया जिससे ऑटो में बैठा 2 साल का मासूम ऑटो से निकल सड़क पर गिर गया।हादसे में 2 साल के मासूम के सिर में चोट लगने की वजह से गंभीर रूप से घायल हो गया। हालांकि हादसे के बाद ऑटो चालक 2 साल के मासूम और परिजन को रास्ते में छोड़ मौके से फरार हो गया। परिजनों ने जैसे तैसे बच्चे को उदयपुर के एमबी अस्पताल में लाकर भर्ती कराया। जहां बच्चे ने मंगलवार को उपचार के दौरान दम तोड़ दिया।  मृतक बच्चे के परिजनों की ओर से लिखित रिपोर्ट देने पर पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए मृतक युवक के शव का पोस्टमार्टम करवा परिजनों को सौंप दिया। परिजनों ने ऑटो चालक पर आरोप लगाते हुए बताया कि ऑटो चालक जल्दबाजी नहीं करता तो यह हादसा नहीं होता।

    जयपुर डेयरी उच्च गुणवत्तायुक्त क्रीम बेस्ड आइसक्रीम अपेक्षाकृत बहुत ही सस्ते दामों पर उपलब्ध कराई जायेगी.

    युवा मामले और खेल मंत्री  ने  पहलवानों को आश्वासन दिया कि भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष  पर आरोपों की जांच इस महीने की 15 तारीख तक पूरी कर ली जाएगी और चार्जशीट दाखिल की जाएगी। पहलवानों के साथ छह घंटे की लंबी चर्चा के बाद मंत्री ने बताया कि भारतीय कुश्‍ती संघ के चुनाव इसी महीने करा लिये जायेंगे। उन्होंने बताया कि कुश्‍ती संघ में एक महिला की अध्यक्षता में आंतरिक शिकायत समिति होगी। खेल मंत्री ने बताया कि बैठक सकारात्मक माहौल में हुई और सभी फैसले सर्वसम्मति से लिए गए। उन्‍होंने कहा कि पहलवानों के खिलाफ सभी एफ आई आर वापस ले ली जाएंगी। पहलवानों ने इस बात पर सहमति जताई है कि वे 15 जून से पहले किसी प्रकार का विरोध प्रदर्शन नहीं करेंगे।भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष  पर पर यौन उत्पीड़न और दुर्व्यवहार के आरोपों के मददेनजर उनकी गिरफ्तारी की मांग को लेकर पहलवान एक महीने से अधिक समय से राष्ट्रीय राजधानी में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

    भास और कृति सेनन की चर्चित फिल्म आदिपुरुष रिलीज के बेहद नजदीक पहुंच चुकी है। बीते दिन तिरुपति में फिल्म का फाइनल ट्रेलर रिलीज किया गया, जो जारी होते ही चर्चा में आ गया।आदिपुरुष के दूसरे ट्रेलर में फिल्म के एक्शन सीन दिखाए गए। वहीं, पहली बार फिल्म के विलेन रावण यानी सैफ अली खान पूरा एक सीन जनता के सामने आया। ट्रेलर में सैफ को कुछ सेकेंड्स की ही स्पेस दिया गया, लेकिन उन्होंने अपनी परफॉर्मेंस से सारी महफिल लूट ली।सोशल मीडिया पर आदिपुरुष को लेकर लोग अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।  लोगों ने प्रभास और कृति की तुलना में सैफ के पार्ट को सबसे ज्यादा पसंद किया। आदिपुरुष  16 जून को थिएटर्स में रिलीज होने जा रही है। फिल्म में कृति सेनन ने जानकी और प्रभास ने राघव का किरदार निभाया है। वहीं, सैफ अली खान, लंकेश के रोल में है। हनुमान के किरदार में देवदत्त नागे और लक्ष्मण के रोल में सनी सिंह हैं।

    बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्‍स 350 अंक चढ़कर 63 हजार एक सौ 43 पर बंद हुआ। नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज का निफ्टी 127 अंक की बढ़त के साथ 18 हजार सात सौ 26 पर पहुंच गया।

    सर्राफा
    उदयपुर में दोनों कीमती धातुओं के भाव इस प्रकार रहे
    सोना 22 कैरेट 1 ग्राम₹  5669  सोना 24 कैरेट 1 ग्राम ₹ 5952
    चांदी 1 किलो बार का भाव रहा ₹₹ 77800

    मौसम

    मौसम विज्ञान केन्‍द्र ने बताया है कि पूर्व मध्‍य और दक्षिण पूर्व अरब सागर में बने गहरे दबाव के क्षेत्र के भीषण चक्रवाती तूफान बिपरजॉय में बदलने की आशंका है। मौसम विभाग ने मछुआरों को समुद्र में मछली पकड़ने के लिए जाते समय सतर्क रहने की सलाह दी है। चक्रवाती तूफान बिपरजॉय उत्तर की ओर बढ़ रहा है और इसके अगले 24 घंटों में और तेज होने की आशंका है। यह तूफान गोवा से लगभग 910 किलोमीटर और मुंबई से एक हजार तीस किलोमीटर दक्षिण-पश्चिम में, पोरबंदर से एक हजार एक सौ दस किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में और कराची से एक हजार चार सौ दस किलोमीटर दक्षिण में स्थित है। तूफान बिपरजॉय के उत्तर केरल-कर्नाटक-गोवा के तटों के पास 40 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से पहुंचने की आशंका है।

    बुधवार सवेरे लेकसिटी का मौसम साफ रहा लेकिन मंगलवार रात को एकाएक मौसम बदल गया। तेज हवाओं ने अहसास करा दिया कि बारिश आने वाली है। वैसे शहरी क्षेत्र को छोडकऱ ग्रामीण इलाकों में कुछ जगह बारिश हुई।प्रदेश के #उदयपुर #राजसमंद और #चित्तौड़गढ़ के जिलों में मेघगर्जन के साथ वर्षा और 30 से 40kmph तेज हवांए चलने की संभावना।

    पिछले 24 घंटों के दौरान उदयपुर शहर का तापमान रहा अधिकतम 37 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम  25

    सेल्सियस

    तो ये थीं अब तक की अपडेट्स हम फिर आएंगे और अपडेट्स लेकर बने रहिए हमारे साथ…

Leave a Reply

Your email address will not be published.