• Fri. Jul 12th, 2024

Udaipur News

Udaipur News Today | Udaipur News Live | उदयपुर न्यूज़ | उदयपुर समाचार

Udaipur Latest News 14 June 2023 उदयपुर की ताजा खबर Udaipur Latest News 14 June 2023 उदयपुर की ताजा खबर Udaipur Latest News 14 June 2023

Byadmin

Jun 14, 2023
  • हेलो फ्रेंड्स हम हाजिर हैं आज की अपडेट्स लेकर….
  • गुजरात राज्य के तटीय क्षेत्रों में चक्रवात से निपटने की तैयारियों की समीक्षा के लिए आज गांधीनगर में आपातकालीन संचालन केंद्र में बैठक की। राज्य के राहत आयुक्त आलोक कुमार पांडे ने बैठक में बताया कि लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का काम आज शाम तक पूरा हो जाने की उम्मीद है। अब तक विभिन्न जिलों से 47 हजार से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है।

    केंद्रीय रेल राज्य मंत्री दर्शना बेन जारदोश ने पोरबंदर के माधवपुर गांव वासियों से अत्यधिक सतर्कता बरतने की अपील की है। उन्होंने लोगों से कहा है कि वे सुरक्षित स्थानों पर चले जाएं। केंद्रीय मंत्री ने लोगों को भरोसा दिलाया कि केंद्र सरकार  स्थिति पर लगातार नजर रखे हुए हैं।पश्चिमी नौसेना कमान आवश्यकता पड़ने पर गुजरात तट पर मानवीय और आपदा राहत पहुंचाने के लिए तैयार

    • राजस्थान में 16-17 जून को दिखेगा बिपरजॉय का असर:तेज रफ्तार हवा-बारिश करेगी परेशान; बचाव के लिए तैयारियां शुरू

  • चक्रवाती तूफान से बचाव को लेकर राज्य सरकार पूरी तरह से तैयार है। किसी भी हालात से निपटने के लिए एस.डी.आर.एफ की 17 टीमें नियुक्त की गई हैं और 30 टीम रिजर्व में हैं। जहां कही भी इसकी जरूरत होगी, वहां इन्हें भेजा जाएगा। अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे अपने हेडर्क्वाटर पर मौजूद रहें।

     लोगों में इस प्राकृतिक आपदा से बचाव के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी पहुंचाने  कि निचले इलाकों में जलमग्नता की वजह से लोगों को परेशानी का सामना ना करना पड़े। इसके लिए ग्राम प्रधान, ग्राम रक्षक, सुरक्षा सखी, सभी पंचायत समिति के सदस्यों का उपयोग कर लोगों में जागरूकता फैलाई जाए। विभाग के अधिकारी ने बताया कि यह सिस्टम 16 जून को डीप डिप्रेशन के रूप में जालोर और बाड़मेर में प्रवेश करेगा जिसकी स्पीड 50 से 60 किमी/घंटा रह जाएगी। इस वजह से प्रदेश में भारी बारिश और आंधी आ सकती है। पश्चिम राजस्थान में 300-400 उउ  तक बारिश हो सकती है। 17 जून के बाद यह सिस्टम धीरे-धीरे कमजोर पड़ जाएगा।

    बैठक में उपस्थित जिला कलेक्टरों ने आश्वासन दिया कि बिजली, मेडिकल, पुलिस जैसे विभागों को सचेत कर दिया गया है, वे अपनी मशीनरी के साथ सर्तक हैं।

  • अरब सागर में बने चक्रवात बिपरजॉय के गुजरात के नजदीक आते ही राजस्थान प्रशासन सतर्क हो गया है। साइक्लोन की इंटेंसिटी को देखते हुए सिरोही, बाड़मेर, जालोर समेत 8 से ज्यादा जिलों के लिए मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।

  • अरब सागर में बने चक्रवात बिपरजॉय के गुजरात के नजदीक आने के साथ ही उदयपुर क्षेत्र में प्रशासन अलर्ट हो गया है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार गुरुवार को चक्रवात के कच्छ वाले क्षेत्र से टकराने के बाद उसका असर उदयपुर-राजसमंद क्षेत्र में दिखने को मिलेगा

    उदयपुर में चक्रवात का असर कल से दिखेगा, प्रशासन अलर्ट:बारिश होने के साथ ही झीलों में से निकाली लक्जरी नावें, सिविल डिफेंस की टीमें भी तैयार उदयपुर संभाग मुख्यालय पर पुलिस महानिरीक्षक  की मौजूदगी में आयोजित वीसी में जिला कलक्टर ने मुख्य सचिव  को अवगत कराया कि तूफान से बचाव के लिए आपदा प्रबंधन विभाग के तत्वावधान में आवश्यक बैठकें कर ली गई है तथा कंट्रोल रूम स्थापित करते हुए ग्राम पंचायत स्तर तक सोशल मीडिया के माध्यम से सावधानी बरतने की अपील जारी की गई है।

    इसी प्रकार सतर्कता बरतने से संबंधित स्थानों के चयन के साथ ही सेना और एनडीआरएफ के अधिकारियों से भी संपर्क बनाएं रखा है। उन्होंने बताया कि सर्वाधिक प्रभाव वाले क्षेत्र कोटड़ा, गोगुंदा व सायरा में प्रभाव वाले दिनों में महंगाई राहत कैंप स्थगित रखे जाएंगे।

    मौसम विभाग के अनुसार अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान बिपरजॉय फिलहाल ईस्ट सेंट्रल अरब सागर की खाड़ी में बना हुआ है तथा धीरे-धीरे उत्तर दिशा की ओर आगे बढ़ रहा है। यह तूफान दिनांक 15 जून को सौराष्ट्र-कच्छ व आसपास के पाकिस्तान तट के ऊपर वेरी सीवियर साइक्लोनिक स्टॉर्म के रूप में पहुंचने की प्रबल संभावना है। तत्पश्चात यह उत्तर-पूर्वी दिशा की ओर आगे बढ़ने तथा धीरे-धीरे कमजोर होने की संभावना है।

    उन्होंने बताया कि दिनांक 16 जून को इसके कमजोर होकर अवसाद/वेल मार्क्ड लो प्रेशन के रूप में दक्षिण-पश्चिमी राजस्थान में प्रवेश करने की संभावना है। इसके असर से आंधी बारिश की गतिविधियां 15 जून दोपहर बाद ही जोधपुर व उदयपुर संभाग के जिलों में प्रारंभ होने की संभावना है। दिनांक 16 जून को इसके असर से जोधपुर, उदयपुर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश होने की संभावना है। इस दौरान दक्षिण-पश्चिमी राजस्थान में हवाओं की गति 45 से 55 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से 65 किलोमीटर प्रति घंटे तक दर्ज होने की संभावना है। उन्होंने यह भी बताया कि 17 जून को भी इस सिस्टम का असर जोधपुर, उदयपुर व अजमेर संभाग व आसपास के कुछ भागों में भारी बारिश के रूप में जारी रहने की संभावना है।

    जिला कलक्टर ने संबंधित विभागों को दायित्व सौंपते हुए आपदा से निपटने व आमजन की सुरक्षा के संबंध में आवश्यक तैयारियां सुनिश्चित करने के निर्देश दिये है।

    कलक्टर ने सिंचाई, पीएचईडी, रसद, स्वास्थ्य एवं चिकित्सा, पुलिस विद्युत, पशुपालन, पीडब्ल्यूडी, एसडीआरएफ व नागरिक सुरक्षा विभाग को सतर्क रहने एवं मानसून पूर्व बाढ़ या अतिवृष्टि से बचाव एवं सुरक्षा की सभी तैयारियों सुनिश्चित करने के निर्देश दिये है। कलक्टर ने बताया कि जिला व तहसील स्तर पर एवं अन्य संबंधित विभागों में 15 जून से 30 सितंबर तक बाढ़ नियन्त्रण कक्ष स्थापित करने के आदेश जारी किये जा चुके हैं।

    बाढ़ नियन्त्रण कक्ष 24 घण्टे संचालित किया जायेगा। इस बाढ़ नियन्त्रण कक्ष में बचाव (रेस्क्यू) कार्य हेतु 32 स्वयं सेवक लगाये गये है। 32 स्वयंसेवक में से 8 जिला बाढ़ नियन्त्रण कक्ष, जिला कलक्टर कार्यालय में एवं 24 स्वयं सेवक नागरिक सुरक्षा विभाग कार्यालय में लगाये गये हैं। बाढ़ नियन्त्रण कक्ष में जन हानि व अन्य किसी प्रकार की हानि की सूचना प्राप्त करने एवं प्राप्त सूचना राज्य स्तरीय बाढ़ नियन्त्रण कक्ष में प्रेषित करने हेतु राजकीय कार्मिकों की प्रातिनियुक्ति की गई है।

    उदयपुर जिला प्रशासन ने जिलेवासियों के नाम अपील जारी कर एहतियात बरतने के निर्देश दिए है। जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के सदस्य सचिव व अतिरिक्त जिला कलेक्टर  द्वारा जारी विडियो अपील में  उदयपुर वासियों को सतर्क रहने व सावधानी बरतने का आह्वान किया है।

    नकर ने बताया कि मौसम विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार अरब सागर के गुजरात के रास्ते होते बिफरजॉय राजस्थान में प्रवेश करेगा। इसके तहत 15 को दोपहर बाद तेज बारिश होने की संभावना है और 16 व 17 को तेज आंधी व हवाएं चलेगी और साथ में बारिश होगी। इस स्थिति को देखते हुए आमजन को सतर्क रहने, टीन शेड व पेड़ पौधों से दूर रहने, अस्थाई स्ट्रक्चर में रहने वाले, लटकते तारों, क्षतिग्रस्त पोल, स्ट्रक्चर आदि से दूर रहने के साथ ही सावधानी बरतने को कहा है।

    वहीं उन्होंने यह भी बताया कि आपात स्थिति में किसी भी प्रकार की सहायता एवं सूचनाओं के संबंध में जिला स्तरीय पर स्थापित आपदा प्रबंधन नियंत्रण कक्ष के दूरभाष नंबर 0294-2414620 पर सम्पर्क कर सकते है।

    प्रताप गौरव केन्द्र ‘राष्ट्रीय तीर्थ’ में हल्दीघाटी युद्ध विजय दिवस के उपलक्ष्य में दो दिन शुल्क में छूट रहेगी। यह छूट लेजर शो के लिए भी रहेगी। वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप के नेतृत्च में मेवाड़ के वीर बांकुरों द्वारा अकबर की सेना के दांत खट्टे करने वाले हल्दीघाटी युद्ध 18 जून 1576 का स्मृति दिवस प्रताप गौरव केन्द्र में विशेष रूप से मनाया जाएगा। इस अवसर पर दो दिन 17 व 18 जून को प्रताप गौरव केन्द्र व लेजर शो के शुल्क में विशेष छूट रहेगी।

    ब्लड डोनेशन डे के मौके पर मंगलवार को भूपालपुरा स्थित ब्लड बैंक परिसर में रक्तदान शिविर आयोजित किया गया। इस रक्तदान शिविर में बीएसएफ के 50 जवानों ने भी रक्तदान किया। देश में हर 2 मिनट में खून की कमी से एक व्यक्ति की मौत हो जाती है इसलिए जीवन में सभी को रक्तदान करना चाहिए ताकि रक्त की कमी की वजह किसी भी व्यक्ति की मौत ना हो।

  • बंबई शेयर बाजार का संवेदी सूचक‍ांक आज 85 अंअंक बढकर 63 हजार 228 पर बंद हुआ। नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज का निफ्टी भी 40  अंक बढकर 18 हजार 755 पर आ गया
  • ।सर्राफा
    उदयपुर में दोनों कीमती धातुओं के भाव इस प्रकार रहे
    सोना 22 कैरेट 1 ग्राम₹  5624  सोना 24 कैरेट 1 ग्राम ₹ 5895
    चांदी 1 किलो बार का भाव रहा ₹₹ 78500
  • मौसम
  • अरब सागर में उठे भीषण चक्रवाती तूफान बिपॉरजॉय के 15 जून की शाम चार बजे के बाद गुजरात के जखाऊ बंदरगाह से टकराने की आशंका है। मौसम विभाग के अनुसार यह तूफान अभी जखाऊ से लगभग 280 किलोमीटर दूर स्थित है।

    मौसम विभाग के अनुसार गुजरात के तटवर्ती क्षेत्र से टकराने के समय यह तूफान भीषण रूप ले सकता है। इस दौरान 125 से 135 किलोमीटर प्रति घंटे की तेज रफ्तार से हवा चल सकती है। इसकी गति 150 किलोमीटर तक पहुंचने की आशंका है। समुद्र में दो से तीन मीटर ऊंची लहरें उठ सकती हैं, जिससे कच्छ, देवभूमि द्वारका, पोरबंदर, जामनगर और मोरबी जिलों के निचले इलाकों में बाढ़ आ सकती है। इन जिलों में कई स्थानों पर तीन से छह मीटर ऊंची लहरें उठ सकती हैं। तूफान के खतरे को देखते हुए गुजरात के तटवर्ती क्षेत्रों तथा उससे सटे उत्तरी अरब सागर क्षेत्र में मछली पकड़ने की गतिविधियों पर 14 जून से 18 जून तक प्रतिबंध लगा दिया गया है।

    अहमदाबाद के मौसम विज्ञान विभाग ने कहा है कि तूफान के प्रभाव से 15 जून को उत्तरी गुजरात के बनासकांठा, साबरकांठा और पाटन जैसे जिलों में भारी बारिश हो सकती है।

  •   झीलों की नगरी में पिछले 24 घंटों के दौरान  तापमान रहा अधिकतम 33 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम  25 सेल्सियस 
  • तो ये थीं अब तक की अपडेट्स हम फिर आएंगे और अपडेट्स लेकर बने रहिए हमारे साथ…

Leave a Reply

Your email address will not be published.