• Mon. Jun 21st, 2021

    Udaipur News

    Udaipur News Today | Udaipur News Live | उदयपुर न्यूज़ | उदयपुर समाचार

    Udaipur Latest News 18 May 2021| उ द य पु र की ता जा ख ब र News 18 May 2021 | उदयपुर की ता जा ख ब र News 18 May 2021

    Byadmin

    May 18, 2021
    0 0
    Read Time:30 Minute, 14 Second
    • हेलो फ्रेंड्स हम हाजिर है आज की अपडेट लेकर….
    • तूफान ताऊ ते से प्रभावित इलाकों में सेना बचाव और राहत कार्यों में लगातार जुटी है सेना की टीम ओले गिर और दीव के बीच सड़क मार्ग पर कई जगहों पर गिरे पेड़ों को हटाया दिया है बिजली के टूटे खंभों से नीचे लड़के तारों को हटा दिया गया है और प्रभावित लोगों को जरूरी चिकित्सा सामग्री की आपूर्ति और यातायात बहाल करने में मदद कर रही है सेना की टीम में स्थानीय लोगों को बचाने में प्रशासन की मदद कर रही है हालांकि तेज हवाओं की रफ्तार कम हुई है वही नौसेना ने अब तक 9 कापी 305 के 177 कर्मचारियों को बचाया है।जबकि बाकी लोगों की तलाश जारी है तीन अन्य व्यापारिक जहाज जिनमें लगभग 700 लोग सवार हैं वह अरब सागर में है ।तूफ़ान में फंसे 314 लोगों को अभी तक सुरक्षित बचा लिया गया है अरब सागर में फंसे अन्य दो जहाजों को खोज लिया गया है वहां बचाव कार्य जारी है।जानकारी के अनुसार तटीय इलाकों से टकराने के बाद ताउतें तूफान अब कमजोर पड़ गया है नहीं गुजरात में इस तूफान के कारण 1081 खंभे नष्ट हो गए 159 सड़कें टूट गई और 196 सड़कों पर यातायात बंद है 40,000 से ज्यादा पेड़ गिर गए हैं और लगभग 16000 कच्चे पक्के घरों को नुकसान पहुंचा है ।
    • क्वेरी
      ब्लैक फंगस से लोगों में किस तरह की परेशानी आती है?
      विशेषज्ञ बताते हैं यह फंगस एक अवसरवादी बीमारी है जो तंदुरुस्त व्यक्ति पर अटैक नहीं करती जबकि कोरोना तंदुरुस्त व्यक्तियों पर भी अटैक करता है जब कोरोना से शरीर कमजोर हो जाता है और इम्यूनिटी कम हो जाती है तब इसका अटैक हो सकता है इसके अलावा कोरोना के इलाज में स्टेरॉयड का प्रयोग बहुत ज्यादा हो रहा है और अगर मरीज को डायबिटीज भी है तो यह उस पर अटैक करता है और उनके आंख नाक या कई बार दिमाग तक पहुंच जाता है तब यह बहुत खतरनाक हो जाता है इसलिए स्टेराइड का प्रयोग बहुत सावधानी से करना होता है।
    • ग्रामीण इलाकों में डॉक्टर प्रैक्टिशनर स्टेरॉइड देते समय किन बातों का ख्याल रखें?
      विशेषज्ञ बताते हैं इन इलाकों में प्रैक्टिस कर रहे डॉक्टर आदि इस बात का ध्यान रखें कि बहुत ज्यादा स्टेरॉयड ना दे । जिन्हें डायबिटीज है उन्हें देते हुए ध्यान रखें कि कितना और कब देना है वह आइसोलेशन में रहने वाले सभी लोगों को स्टेरॉयड ना दे। एक स्टेरॉइड इनहेलर और नेबुलाइजर काफी प्रभावी होता है। यह ओरल स्टेरॉयड से अच्छा है क्योंकि यह शरीर के अंदर नहीं जाता। माइल्ड सिम्टम्स वाले मरीजों को दिन में दो बार लेने की भी कई बार सलाह दी जाती है।
    • डीआरडीओ की दवा 2dg कैसे काम करती है ?
      विशेषज्ञ बताते हैं इसमें दो डी ऑक्सी ग्लूकोस है जिसे वायरस ग्लूकोस समझता है वह इसके ट्रैप में आकर वहीं रुक जाता है और आगे बढ़ नहीं पाता इससे वह सेल को नुकसान नहीं पहुंचा पाता। यह दवा शुरुआत के 7 दिन के अंदर ही काम करेगी क्योंकि जब वायरस रेपलिकेट करता है तभी इसका असर होगा ।अगर वायरस ने अपना काम कर लिया है तो उसमें मदद नहीं होगी। दवा सीधे बवायरस पर अटैक करती है इसलिए उम्मीद है कि इससे फायदा होगा।
    • क्या गांव में भी डबल मास्क लगाना जरूरी है?
      विशेषज्ञ बताते हैं अगर कोई n95 मास्क लगाता है तो सिंगल मास्क यानी एक मास्क लगाएं। लेकिन अगर कॉटन का मास्क लगा रहे हैं तो डबल मास्क लगाएं। डब्ल्यूएचओ के अनुसार अगर किसी ने तेजी से खांसा और वायरस हवा में उड़ गया तो वह कॉटन के सिंगल मास्क के जरिए प्रवेश कर सकता है इसलिए डबल मास्क लगाकर रखें।
    • देश में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या मे गिरावट। पिछले 24 घंटों में 2,63,000 से अधिक नए मामले आए।
    • कोरोना की दूसरी लहर में बुजुर्ग युवाओं के साथ बच्चे भी संक्रमित हो रहे हैं। हालांकि कई बच्चों में कोरोना के लक्षण नहीं दिख रहे या बहुत कम दिख रहे हैं। ऐसे में बीमारी के लक्षणों को समय पर पहचान कर उनका इलाज करना जरूरी है। तो ध्यान दीजिए माय गोव इंडिया के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट में बच्चों में कोरोना के लक्षण समेत अन्य दिशा निर्देश दिए गए हैं। यह है सामान्य लक्षण-
      हल्का बुखार खांसी जुकाम सांस लेने में परेशानी थकान गले में खराश होना मांसपेशियों में दर्द नाक का बहना खाने में स्वाद ना आना और सुनने की क्षमता कम होना कुछ बच्चों में पेट और आंतों से जुड़ी समस्याओं के साथ अन्य असामान्य लक्षण भी देखे गए हैं ।बच्चों में लक्षण नहीं दिखाई दे रहे हैं तो भी स्क्रीनिंग करवा लेनी चाहिए। ऐसा करने से कोरोना पॉजिटिव होने का आसानी से लगाया जा सकता है या उन्हें होम आइसोलेशन में भी इलाज करा सकते हैं जैसे गले में दर्द या खराश होने पर गर्म पानी में नमक डालकर गरारे करवा सकते हैं बुखार आने पर चार से 6 घंटे पर पेरासिटामोल की 10 से 15 एमजी की खुराक दी जा सकती है लेकिन फिर भी तबीयत में सुधार ना लगे तो डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें।
    • कोविड-19 संक्रमण होने की स्थिति में घबराए नहीं ज्यादातर केस हलके लक्षण वाले होते हैं जो घर पर ही ठीक हो जाएंगे इस दौरान यदि कोई परेशानी हो तो डॉक्टर की सलाह ले ।
    • वन नेशन वन राशन कार्ड के लिए टोल फ्री नंबर है -14445
    • माई गांव ने भारतीय भाषा सीखने का ऐप बनाने के लिए नवाचार चुनौती प्रतियोगिता शुरू की है।
    • बद्रीनाथ मंदिर के कपाट सर्दियों में बंद रहने के बाद आज सुबह खोल दिए गए।
    • महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय उदयपुर के सामुदायिक और व्यावहारिक विज्ञान महाविद्यालय द्वारा आयोजित और अखिल भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद नई दिल्ली राष्ट्रीय कृषि उच्च शिक्षा परियोजना द्वारा प्रायोजित 11 दिवसीय प्रेरक श्रंखला’ फर्श से अर्श तक’ के पांचवे दिन वक्ताओं ने विचार रखें। इसमें विद्यार्थी प्रतिदिन उद्गम यात्रा की कहानी अपनी जुबानी सुनाते हैं साथ ही संवाद के माध्यम से समस्याओं का निवारण किया जाता है। पांचवें दिन 2 सत्र हुए जिसमें यह बात निकलकर सामने आई कि कभी हार ना मानने की प्रवृत्ति से एक मुकाम हासिल किया जा सकता है सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता। गौरतलब है कि इस श्रंखला में छात्राओं द्वारा स्वयं का उद्यम स्थापित कर अन्य लोगों को रोजगार दिए जाने के सफर को सुनाया जा रहा है।
    • कोरोना के कारण कॉमन लॉ ऐडमिशन टेस्ट 2021 स्थगित कर दिया गया है ।13 जून को कलैट की परीक्षा होनी थी।
    • स्मार्ट सिटी मिशन में राजस्थान दूसरे नंबर पर।
      100 शहरों में जयपुर को 36 वां और उदयपुर को आठवां स्थान मिला।
    • चक्रवाती तूफान राजस्थान की तरफ बढ़ रहा है। प्रदेश के कई इलाकों में रिमझिम और तेज बारिश का दौर चल रहा है। गुजरात से टकराने के बाद आज तूफान के देर रात प्रदेश में प्रवेश करने की संभावना है अगले 24 घंटों में उदयपुर और जोधपुर संभाग में भी तेज बारिश होने की आशंका है।
    • महामारी के संक्रमण और संभावित चक्रवात को देखते हुए आमजन अपने घरों पर ही रहे और अति आवश्यक होने पर ही मास्क लगाकर घरों से बाहर निकले
    • मौसम विभाग के अनुसार दक्षिणी पूर्व अरब सागर में बने भीषण चक्रवर्ती तूफान ताकते कमजोर होकर चक्रवात की श्रेणी में बन चुका है पिछले 6 घंटों में 10 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से उत्तर उत्तर पूर्व दिशा में आगे बढ़ा है अभी इसका केंद्र गुजरात के अमरोहा जिले के आसपास है 19 मई सुबह के समय इस सिस्टम के कमजोर होकर दक्षिण पश्चिम राजस्थान में प्रवेश करने की संभावना है तत्पश्चात यह सिस्टम और कमजोर होकर कम दाब के साथ उत्तर पूर्व दिशा की ओर आगे बढ़ सकता है पिछले 24 घंटों में राज्य के अधिकांश भागों में मेघ गर्जन के साथ हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई है सर्वाधिक बारिश बनेरा और मांडल भीलवाड़ा में 60मिमी दर्ज की गई है।
      जोधपुर और उदयपुर जिले के संभाग में 18 मई शाम से 19 मई सुबह तक हवा की गति 45 से 55 किलोमीटर और अधिकतम 65 किलोमीटर पर आवर होने की संभावना है। पाली उदयपुर जालौर डूंगरपुर और सिरोही में मेघ गर्जन वज्रपात के साथ भारी से भारी बारिश होने की संभावना है जोधपुर कोटा और अजमेर में मेघ गर्जन के साथ भारी से अति भारी बारिश होने और बीकानेर में मेघ गर्जन आंधी के साथ हल्के से मध्यम बारिश की संभावना है।
      19 मई को अजमेर जोधपुर कोटा जयपुर और भरतपुर में मेघ गर्जन के साथ तेज हवाएं और कहीं भारी बारिश होने की संभावना है बीकानेर में मेघ गर्जन और आंधी के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है।
      20 मई को भरतपुर संभाग में एक-दो स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश होने और शेष भागों में मौसम मुख्यता शुष्क रहने की संभावना है।
    • आज विश्व संग्रहालय दिवस है संग्रहालय में हमारे पूर्वजों की अनमोल यादों को संजो कर रखा जाता है यह दिवस विश्व भर में संग्रहालय उनकी भूमिका के बारे में लोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए मनाया जाता है पूर्वजों ने अपनी यादों को सुंदर तरीके से संजो कर रखा कि हम भी उनके बारे में जान सकते हैं ।इन्हें नुकसान न पहुंचाने के लिए संग्रहालय बना दिए गए ताकि हम अपने पूर्वजों को याद रख सकें। संयुक्त राष्ट्र ने 1983 में 18 मई को अंतर्राष्ट्रीय संग्रहालय दिवस के रूप में मनाने का निर्णय दिया था इस दिन देश के सभी संग्रहालय में प्रवेश निशुल्क रखा जाता है। हर वर्ष की एक थीम होती है जिसके अनुसार आयोजन किए जाते हैं। झीलों के शहर उदयपुर में कई सारे खूबसूरत संग्रहालय हैं जिनमें से मुख्य इस प्रकार हैं –
      सिटी पैलेस म्यूजियम जिसे 1975 में महाराणा भगवत सिंह जी ने बनाया था अपने विशेष हेरिटेज कल्चर और ट्रेडिशनल लुक के कारण यह पर्यटकों की पहली पसंद रहता है।
      आहड़ संग्रहालय इसकी स्थापना प्रदेश सरकार ने 1960 में की थी यहां ताम्र और पाषाण कालीन सभ्यता के अवशेष पाए गए थे।
      विंटेज और क्लासिक कार म्यूजियम जिसे वर्ष 2000 में बनाया गया था इसमें 22 विशेष कारों का कलेक्शन सुरक्षित है जो विंटेज श्रेणी की है।
      बागोर की हवेली संग्रहालय पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र द्वारा रिनोवेट इस संग्रहालय में जनजीवन से जुड़े कई सारे स्मृतियां सुरक्षित है।
      मोती मगरी संग्रहालय हल्दीघाटी युद्ध और चित्तौड़गढ़ किले के इतिहास को समेटे म्यूजियम में कुछ हथियार जो उस काल के सैनिकों द्वारा इस्तेमाल किए जाते थे सुशोभित हैं।
      क्रिस्टल गैलरी, भारतीय लोक कला मंडल, ट्राईबल रिसर्च इंस्टीट्यूट म्यूजियम, जनजाति संग्रहालय शिल्पग्राम, क्षेत्रीय मानव विज्ञान संग्रहालय आदि अन्य संग्रहालय हैं।
    • प्रदेश के 37 स्थानों पर ऑकसीजन बैंक और पांच स्थानों पर मोबाइल ऑक्सीजन बैंक का आज वर्चुअल शुभारंभ किया गया।
    • जयपुर में खराब मौसम के चलते आधा घंटे हवा में उड़ता रहा विमान। लैंडिंग के बाद यात्रियों ने ली राहत की सांस।
    •  चक्रवाती तूफान राजस्थान के दक्षिण-पश्चिम इलाके में कल सुबह तक पहुंचेगा।
    • महाराष्ट्र में ताऊ के तूफान के कारण 46 लाख से अधिक उपभोक्ताओं की बिजली आपूर्ति बाधित।
    • गुजरात के सौराष्ट्र में अत्यधिक भीषण ताउते उत्तर उत्तर उत्तर पूर्व की तरफ बढ़ गया।
    • 5 किलो प्रति व्यक्ति प्रति माह का अतिरिक्त अनाज राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम लाभार्थियों को मई और जून महीने के लिए मुफ्त में दिया जा रहा है।
    • फाइजर की कोविड-19 वैक्सीन का भंडारण अब फ्रिज के तापमान पर एक महीने तक किया जा सकता है।
    • दुनिया को कोविड-19 वैक्सिंन उपलब्ध कराने की दौड़ में देश की एक फार्मा कंपनी ने बड़ी बढ़त बना ली है। द सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन निर्माता कंपनी है जो पुणे स्थित अपने प्लांट में हर साल डेढ़ बिलियन यानी डेढ़ अरब वैक्सीन डोज बनाती है अभी एस्ट्राजनेका जैसी दवा कंपनियों के लाइसेंस के तहत यह कोविड-19 की वैक्सीन बना रही है। इस कंपनी ने कोविड-19 वैक्सीन के प्रोजेक्ट में लगभग 260 मिलियन डॉलर का निवेश किया और बाकी फंड बडे दानदाताओं और कुछ अन्य देशों से जुटाये। मई तक वैक्सीन बनाने के लिए 800 मिलियन डॉलर जमा कर लिए ।जिसमें से समय रहते 600 मिलियन वायल यानी वैक्सिंन की शीशियां खरीदी गई जिन्हें सितंबर में गोदाम में रखवा दिया गया जनवरी में 70 से 80 मिलियन डोज तैयार किए गए। अगस्त में वैक्सीन बनानी शुरू कर दी गई थी। उनके अनुसार बाकी बडी कंपनियों ने भी ऐसा किया होता तो दुनिया के पास आज बहुत अधिक वैक्सीन डोज होती दुनिया की बड़ी कंपनियों को मिलकर गुणवत्ता के 1 मानक पर जल्द से जल्द सहमति बनानी चाहिए थी, मिलकर ऐसा किया जा सकता था देश के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान का लक्ष्य अगस्त 2021 तक करीब 300 करोड लोगों को कोविड-19 वैक्सीन लगाना है वहीं कुछ लोगों द्वारा यह कहना कि कोविड-19 वैक्सीन सुरक्षित नहीं है इस पर कंपनी द्वारा कहा गया कि उनसे गुजारिश है कि जिम्मेदारी से वे अपनी बात रखें और तथ्यों को जाने बिना इन विषयों पर ना बोले।
    • विश्व की शोध करने वाली एक संस्था ने कोविड-19 की बीमारी और दिल के कनेक्शन को समझाने के लिए एक वीडियो बनाया है इसके अनुसार दिल को काम करने के लिए ऑक्सीजन की जरूरत पड़ती है ऑक्सीजन युक्त खून को शरीर के दूसरे अंगों में पहुंचाने में दिल की भूमिका होती है यह अक्सीजन दिल को फेफड़ों से मिलती है कोरोना का संक्रमण सीधे फेफड़ों पर असर करता है ।कई मरीजों में ऑक्सीजन स्तर कम होने लगता है ऑक्सीजन की कमी कुछ मरीजों में दिल पर भी असर कर सकती है ऐसी स्थिति में दिल की मांसपेशियों को ऑक्सीजन युक्त खून पंप करने के लिए ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है जिसका सीधा असर दिल के टिशू पर पडता है।इसकेजवाब में शरीर में इन्फ्लेमेशन पैदा होती है कभी-कभी ज्यादा इन्फ्लेमेशन की वजह हार्ड मसल पर बुरा असर पड़ता है ।हार्टबीट तेज हो सकती है जिस कारण हार्ट के खून पंप करने की क्षमता कम हो सकती है जिन्हें ऐसी कोई बीमारी पहले से है उनकी दिक्कत बढ़ भी सकती है ।लेकिन हमें कैसे पता कि हमें दिल संबंधी दिक्कत है ?क्या सभी को रोना मरीजों के दिल पर बुरा असर पड़ता है या वह कौन मरीज है जिन्हें अपने दिल की ज्यादा चिंता करनी चाहिए? इस पर विशेषज्ञ बताते हैं ब्लड प्रेशर, शुगर और ज्यादा मोटे लोगों में कोरोना के दौरान दिल की बीमारी का रिस्क ज्यादा होता है सीवियर कोरोना के मरीज में दिल पर असर देखने को मिलता है लेकिन इन सब से घबराए ना। कोरौना के लगभग 90 फ़ीसदी मरीज घर पर ही ठीक हो जाते हैं बचे 10 से 20 फ़ीसदी मरीजों को हॉस्पिटल जाने की जरूरत पड़ती है उनमें से भी एक छोटे से हिस्से के मरीजो को दिल संबंधी दिक्कतें हो सकती है इनमें से कईयों को अस्पताल से घर लौटने के तुरंत बाद या 1 से 3 महीने के बाद इसका असर देखने को मिल सकता है ।किसी भी कोविड-19 को मरीज को सांस लेने में दिक्कत हो या सीने में दर्द की शिकायत हो या अचानक से दिल की धड़कन रह रहे है रहकर तेज हो रही हो तो चाहे वे कोरोना से ठीक हो गए हो या आइसोलेशन में हो इन लक्षणों को दरकिनार ना करें वही विशेषज्ञ कहते हैं कोविड-19 के इलाज में स्टेरॉइड की खास भूमिका है लेकिन मरीज को यह कब देना है यह टाइमिंग बहुत मायने रखता है यह दवा कोविड-19 के डायबिटीज वाले मरीज पर साइड इफेक्ट कर सकती है उनमें स्टेरॉयड दूसरे बैक्टीरिया और फंगस को प्रमोट करते हैं जिस मरीज को ऑक्सीजन की कमी है केवल उन्हें ही स्टेरॉयड दिए जाने की जरूरत है इन्हें 10 से 15 फ़ीसदी मरीज में 7 दिन के बाद ही शुरू करना चाहिए इसे डॉक्टर को ही लिख कर देना चाहिए अस्पताल में दिया जाना चाहिए जल्दी देने या ज्यादा मात्रा में दिए जाने पर यह घातक हो सकता है वही विशेषज्ञ बताते हैं कोरोना होने पर पहले हफ्ते में वायरस शरीर के अंदर रेप्लिकेट करता है तब खांसी बुखार बदन दर्द जैसी शिकायतें रहती है उस दौरान सांस फूलने और सीने में दर्द जैसी शिकायत नहीं होती आठ से 10 दिन बाद शरीर वायरस के खिलाफ रिएक्ट करना शुरू करता है उस दौरान शरीर में इन्फ्लेमेशन की शुरुआत होती है उस वक्त दूसरे हिस्से भी चपेट में आ सकते हैं यह वायरस सीधे दिल पर असर नहीं डालता पर सीआरपी और डि डाइमर बढने लगते हैं इस कारण ऐसे टेस्ट 7 से 8 दिन बाद ही कराने की सलाह दी जाती है‌ इनमें से कुछ पैरामीटर बढे हुए आते हैं तो शरीर के दूसरे हिस्सों में गड़बड़ी शुरू हो रही है यह बात पता चलती है। इससे पता चलता है कि अब कौन सा हिस्सा वायरस की चपेट में आ रहा है और कौन सी दवा लेनी है ।इन दिनों 6 मिनट वाक टेस्ट की बात भी हो रही है जो दिल और फेफड़े की सेहत जांचने के घर बैठे करने वाले आसान उपाय हैं साथ ही विशेषज्ञ कम गंभीर लक्षण वाले मरीजों के लिए ब्रेथ होल्डिंग एक्सरसाइज कम से कम 6 महीने तक करने की सलाह देते हैं इस दौरान अगर आप 25 सेकंड तक सांस रोकने में सफल रहते हैं तो आपके फेफड़े सेहतमंद हैं रोज योग करना ब्रीथिंग एक्सरसाइज करना या भाग लेना गार्गल करना मास्क पहले रखने से फेफड़ों को सेहतमंद रखा जा सकता है और मिर्च मसालों का कम सेवन करना भी फेफड़ों के लिए अच्छा है।
    • दक्षिण पूर्व अरब सागर से उठे तूफान के चलते मंडियों और खलिहान में खुले आसमान के नीचे रखे अनाज की सुरक्षा के लिए किसानों को उनके सुरक्षित भंडारण और वाहन चालकों को सावधानी बरतने की सलाह दी गई है तूफान लगभग उत्तर दिशा की ओर आगे बढ़ रहा है और18 मई शाम इसके दक्षिण पश्चिमी राजस्थान में प्रवेश करने की संभावना है ऐसे में तूफान से बचने के लिए सावधानियां बरतनी जरूरी है इसलिए खुले आसमान या खलिहान में पड़े अनाज को सुरक्षित स्थान पर भंडारण करें और ढक कर सुरक्षित स्थान पर रखें ताकि भीगने से बचाया जा सके वहीं अगर किसी को आसपास मेघ गर्जन या बिजली चमकती दिखाई दे तो किसी हाल में पेड़ के नीचे शरण ना लें और तेज अंधड़ के समय बड़े पेड़ों के नीचे या कच्चे मकानों में शरण लेने से बचें। तेज अंधड से बिजली के तारों के टूटने और खंभों के गिरने से क्षति होने की आशंका है वही अधड के समय दृश्यता कम होने से यातायात व्यवस्था प्रभावित हो सकती है इसलिए वाहन चालक विशेष सावधानी बरतें ।
    • चक्रवाती तूफान को देखते हुए राज्य स्तर पर तीन पारियों में 247 नियंत्रण कक्ष स्थापित करने के साथ ही सभी जिला कलेक्टरों एसडीआरएफ एनडीआरएफ और सेना को प्रभावी कार्रवाई के लिए जिला नियंत्रण कक्ष कार्यशील रखने के निर्देश दिए गए हैं जिला कलेक्टरों को तूफान से संबंधित सूचना और चेतावनी आम नागरिकों तक इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया सोशल मीडिया मास एसएमएस के जरिए निरंतर पहुंचाने के निर्देश दिए गए हैं और मौसम विभाग से प्राप्त चेतावनी को जिलों में स्थित राज्य सरकार के ग्रास रूट लेवल के समस्त लाइन डिपार्टमेंट्स पंचायती राज संस्थाओं स्थानीय नगरीय निकायों तक पहुंचाने और उनसे अपेक्षित समस्त पूर्व तैयारियों को सुनिश्चित किए जाने के लिए भी निर्देश दिए गए हैं उदयपुर संभाग मुख्यालय पर एनडीआरएफ की टीम और उदयपुर डूंगरपुर बांसवाड़ा के चिन्हित स्थानों पर एसडीआरएफ की टुकड़ियों को तैनात किया गया है राज्य के सभी जिलों में नागरिक सुरक्षा की रेस्क्यू टीम को संसाधनों के साथ तैयार रखने
      और अन्य सभी संबंधित विभागों से समन्वय स्थापित करने के निर्देश दिए हैं वहीं तूफान के कारण क्षतिग्रस्त विद्युत लाइनों की तुरंत प्रभाव से मरम्मत कर चालू करने और जिले में उपलब्ध डीजी सेट की मैपिंग कर बाधारहित विद्युत सप्लाई चालू करने के भी निर्देश दिए गए हैं कोविड-19 की वर्तमान स्थिति में विद्युत आपूर्ति बाधित होने की स्थिति में अस्पतालों में उपलब्ध डीजी सेट्स का चिन्ह करण कर अस्पतालों में भर्ती कोविड-19 मरीजों के इलाज के लिए निर्बाध पावर सप्लाई उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए गए हैं।
    • Corona update Rajasthan
      New cases:8398
      Cumulative positive:879664
      Active cases:159455
    • Corona update udaipur today
      New cases’:550
      Cumulative positive:52174
      Cumulative discharged:41675
      Active cases:9959
      Home isolated 8668
    • सेंसेक्स
      बीएसई सूचकांक आज 612.6 अंकों की बढ़त के साथ 50193.33 पर बंद हुआ।
      वहीं निफ्टी184.95 अंकों की बढ़त लेकर 15108.1 पर बंद हुआ।
    • सराफा
      उदयपुर में आज दोनों कीमती धातुओं के भाव इस प्रकार रहे
      सोना 22 कैरेट 1 ग्राम ₹4628
      सोना 24 कैरेट 1 ग्राम 4859 रुपए
      वहीं चांदी 1 किलो बार का भाव रहा ₹76600
    • मौसम
      शहर में दिनभर रूक रूक कर बूंदाबांदी होती बादल छाए हुए हैं। तापमान में गिरावट आई है अधिकतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 22 डिग्री सेल्सियस रहा।
    • तो ये थीं अब तक की अपडेट्स हम फिर आएंगे और अपडेट्स लेकर बने रहिए हमारे साथ…..
    Happy
    Happy
    100 %
    Sad
    Sad
    0 %
    Excited
    Excited
    0 %
    Sleppy
    Sleppy
    0 %
    Angry
    Angry
    0 %
    Surprise
    Surprise
    0 %

    Average Rating

    5 Star
    0%
    4 Star
    0%
    3 Star
    0%
    2 Star
    0%
    1 Star
    0%

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *