• Sun. May 16th, 2021

    Udaipur News

    Udaipur News Today | Udaipur News Live | उदयपुर न्यूज़ | उदयपुर समाचार

    Udaipur Latest News 20 december 2020 | उ द य पु र की ता जा ख ब र news 20 december 2020 | उदयपुर की ताजा खबर उ द यपु र की ता जा news 20 december 2020 | उदयपुर की ताजा खबर

    Byadmin

    Dec 20, 2020
    0 0
    Read Time:17 Minute, 10 Second
    • हेलो फ्रेंड्स, हम हाजिर हैं आज की अपडेट्स लेकर…
    • शहर के प्रभारी मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास अपने अल्प प्रवास पर आज सुबह उदयपुर पहुंचे इस दौरान वे मीडिया से भी मुखातिब हुए और प्रदेश सरकार के कार्यकाल को ऐतिहासिक बताया इससे पूर्व सर्किट हाउस में उन्होंने जन समस्याएं सुनी और सभी के निराकरण के लिए आश्वासन दिया।
    • शहर के सुखेर थाना इलाके में शनिवार रात उद्योगपति के घर बदमाशों ने फायरिंग की। सुबह इंडस्ट्रियस ने इस संबंध में पुलिस को जानकारी दी। फिर पुलिस और एफएसएल टीम उनके घर पहुंची और जांच शुरू की। वहीं पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है। साथ ही आसपास के इलाकों में लगे सीसीटीवी फुटेज भी खंगाल रही है।
    • उदयपुर विकास प्रन्यास द्वारा शहर में फिर से फतेहसागर और पिछोला झील में बोटिंग शुरू करने की अनुमति दी गई है ।गौरतलब है कि 18 मार्च से झीलों में बोटिंग पर रोक लगी हुई थी। अनलाक के बाद भी बोटिंग की अनुमति नहीं थी। ऐसे में प्रशासन की मंजूरी के बाद अब कोरोना दिशा निर्देशों की पालना के साथ बोटिंग शुरू करवाई जा रही है। ताकि आम आदमी के साथ -साथ पर्यटकों का मनोरंजन हो सके। इसके तहत पर्यटकों को लाइफ जैकेट के साथ मास्क पहनना अनिवार्य होगा। उससे पहले पर्यटकों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। और फिर हैंड सेनेटाइज करने के बाद बोट पर ले जाया जाएगा। वहीं 20 सीटर बोट में 10 पर्यटकों को ही बिठाया जा सकेगा। लाइफ जेकेट हर बार सैनिटाइज किए जाएंगे। और स्पीड बोट में तीन चार लोग ही बैठ सकेंगे। और नाइट कर्फ्यू के चलते बोटिंग का समय सुबह 9:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक रहेगा।
    • प्रमुख शासन सचिव स्कूल शिक्षा समिति सोमवार 21 दिसंबर की सुबह 10:00 बजे आर एस सी ई आर टी सभागार में विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक लेंगी। संबंधित अधिकारियों को पूर्ण तैयारी के साथ बैठक में उपस्थित रहने के निर्देश दिए गए हैं।
    • महाराष्ट्र सरकार ने अगले 6 महीने तक राज्य में मास्क पहनना अनिवार्य किया है
    • देश में कोविड-19 से स्वस्थ होने वालों की दर बढ़कर 95.51% हो गई है । पिछले चौबीस घंटों में 29,000 से अधिक कोविड-19 रोगी स्वस्थ हुए हैं।
    • Corona update Rajasthan
      Cumulative positive:2,98,996
      Active cases:12,422
    • शहर में कोरोना का असर कम होने का नाम नहीं ले रहा है ।शहर में आज 55 नए कोरोना संक्रमित मिले ।इन्हीं के साथ कुल पॉजिटिव केस की संख्या 10,804 हो गई है। जिनमें से 10332 लोग ठीक हो कर घर जा चुके हैं। अभी एक्टिव केस 364 है वही 193 लोग होम आइसोलेशन में हैं। अब तक दिसंबर माह में 1572 पॉजिटिव मिल चुके हैं नवंबर माह में 9237 संक्रमित मिले थे।
    • इजरायल में कोरोना का वैक्सीनेशन शुरू। पीएम नेतन्याहू न ने लगवाया पहला टीका। फाइजर बायो एनटेक वैक्सीन का इंजेक्शन लेने से पहले उन्होंने कहा- मुझे इस वैक्सीन पर भरोसा है। उन्होंने कहा वे खुद उदाहरण पेश करना चाहते थे इसलिए उन्होंने देश में सबसे पहले टीका लगवाया ताकि और लोग भी प्रोत्साहित हो।
    • साल 2020 के खत्म होने में चंद दिन बाकी है ऐसे ही पिछले साल 2019 के आखिरी महीने के आखिरी दिनों में हम उम्मीदों से नए वर्ष की शुरुआत सोच रहे थे ।लेकिन वह शुरुआत या यह वर्ष उम्मीदों के मुताबिक नहीं रहा और पूरा वर्ष कोरोना की गिरफ्त में आ गया ।
    • चीन में एक जानलेवा वायरस के बारे में पता चला तब इसके बारे में बहुत कम पता था उस वक्त बचाव के सही उपाय भी नहीं थे और सामान्य रोजमर्रा की चीजों को बचाव के विकल्प के तौर पर इस्तेमाल किया गया यह थी जनवरी की बात।
    • फरवरी में सुपरमून को देखकर दुनिया भर लोग खुश हुए यह साल की प्रमुख खगोलीय घटना थी।
    • कोरोना की वजह से मार्च से पाबंदियां लगनी शुरू हुई और लोगों का दोस्तों से बात करना, बाहर जाना बंद होकर ज्यादातर वक्त ऑनलाइन पर बिताना शुरू हुआ।
    • अप्रैल में सोशल डिस्टेंसिंग की वजह से लोगों की रचनात्मकता देखने को मिली।
    • मई में दुनिया मे नस्लवाद और पुलिस बर्बरता के खिलाफ आंदोलन दिखाई दिया।
    • जून में लॉकडाउन के पहले दौर में मुश्किल वक्त में कला का महत्व दर्शाया जाता रहा
    • । जुलाई में भारत और पाकिस्तान में टिड्डी दल ने बडी तबाही मचाई।
    • वहीं अगस्त में बैरूत में एक शक्तिशाली गैर परमाणु धमाके में 200 से ज्यादा लोग मारे गए और हजारों घायल हुए और बेघर हो गए। वहीं सितंबर में ब्राजील में अमेजन के जंगलों में इस दशक की सबसे भयंकर आग लगी जिसने पर्यावरणविद और संरक्षण वादियों के माथे पर चिंता की लकीरें खींची थी
    • अक्टूबर में दुनिया भर की सरकारें लॉकडाउन में ढील और सख्ती बरतने को लेकर असमंजस की स्थिति में रहे क्योंकि कोरोना के मामले घटते बढ़ते रहे। व्यापारियों के अनुसार उनका भविष्य अंधकारमय हो गया। व्यवसाय ठप पड़ने लगे। नवंबर में थाईलैंड में लोकतंत्र में सुधारों की मांग को लेकर प्रदर्शन होते रहे
    • वहीं दिसंबर में कोरोना से भले ही धरती पर त्राहि मची हो लेकिन अंतरिक्ष के क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा चल रही है चीन चांद की सतह पर अपना झंडा गाड़ने वाला दूसरा देश बन गया है 44 सालों में चीन में चांग ई 5 मिशन के तहत चांद की सतह से मिट्टी और पत्थर के नमूने लाने में कामयाबी हासिल की है।
    • हम में से कई लोगों के लिए यह साल बड़ा ही उदासीनता भरा रहा है जो खत्म हो ऐसी दुआ हम सब कर रहे हैं। महामारी से बुरी तरह प्रभावित इस साल को अब तक का सबसे खराब साल मान रहे हैं लेकिन इतिहास पर नजर डालें तो कई ऐसे वर्ष गुजरे जिनकी 2020 से तुलना करें तो लगेगा कि कम से कम इस हिसाब से बुरा तो नहीं कहा जा सकता। आंकड़ों के मुताबिक 17 दिसंबर तक कोविड-19 की वजह से दुनिया भर में 7.45 करोड़ लोग संक्रमित हो चुके हैं और पूरी दुनिया में लगभग 16,00000 लोगों की जान जा चुकी है लेकिन यह दुनिया की सबसे बुरी बीमारी नहीं है। इससे कहीं ज्यादा बुरी महामारी दुनिया डझेल चुकी है उन्ही में से एक है ब्लैक डेथ यूरोप में इस बीमारी की वजह से ढाई करोड़ और पूरी दुनिया में 20 करोड लोग मारे गए थे। और पुर्तगाली यात्रियों की वजह से 1520 में अमेरिका में चेचक की बीमारी फैली थी जिसकी वजह से वहां के मूल निवासियों के 60 से 90 फ़ीसदी आबादी मौत के मुंह में समा गई थी। साल 1918 में स्पेनिश फ्लू से करीब 5 करोड़ लोगों की जान गई थी जो उस समय दुनिया के कुल आबादी का 3 से 5 फ़ीसदी था। 1980 के दशक से शुरू होने के बाद से अब तक एड्स से 3.2 लोगों की जान गई है।
    • कोरोना की वजह से कई लोगों की रोजी-रोटी छिन गई है और रोजगार भी कम है लेकिन अभी 1929 यह 1933 तक चली मंदी के बराबर नहीं पहुंचा है बेरोजगारी का स्तर। रोजगार के लिहाज से साल 1933 अब तक का सबसे खराबसाल रहा था। जर्मनी में हर तीन में से एक आदमी उस समय बेरोजगार था उन्हीं परिस्थितियों में वहां एडोल्फ हिटलर का उदय हुआ।
    • इस साल हमने ज्यादातर वक्त घर में बताया है और अपने प्रिय जनों से मिल नहीं पाए हैं। लेकिन 536 में ज्यादातर लोग खुला आसमान भी नहीं देख पाए थे। पुरातत्वविद बताते हैं कि यूरोप मध्य पूर्व एशिया के कई देशों में करीब 18 महीनों तक धुंध छाई रही थी उनके अनुसार वो सबसे बुरा दौर था चाहे वह बुरा साल ना भी हो तो भी।यह पिछले 2300 सालों में सबसे ठंडे दशक की शुरुआत हो चुकी थी फसल बर्बाद हो चुकी थी लोग भूख से मर रहे थे और यह शायद उत्तरी अमेरिका में हुए ज्वालामुखी विस्फोट की वजह से हुआ इसका असर रहा था ऐसा माना गया कि ज्वालामुखी से निकला धुआ ठंडी हवा के सहारे यूरोप और फिर बाद में एशिया में फैल गया।
    • दुनिया में पर्यटन के हिसाब से भी यह साल बुला रहा लेकिन इससे पहले की सूची है तो 195000 साल पहले इंसान यात्राओं को लेकर पाबंदियां झेलता रहा इसकी शुरुआत ठंडे और उस सुखाड़ वाले वक्त से होती है जो 10000 साल तक रहा इस अवधि को मैरिन आइसोटोप स्टेज सिक्स नाम से जाना जाता है उस दौर में पढ़ने वाला सूखा हमारी प्रजाति को करीब-करीब खत्म ही कर चुका था तब अफ्रीका के दक्षिणी तट पर मानव प्रजाति की जान बच पाई थी ।इसे गार्डन आफ ईडेन कहते हैं यहां इंसान की प्रजाति में समुद्री भोजन के सहारे जीना सिखा
    • वहीं साल 1982 के अप्रैल में चार गोरे पुलिस वालों को काले बाइक वालै की हत्या के बाद रिहा किया गया था उसके बाद दंगा भड़क गया था उसमें कम से कम 54 लोगों की मौत हो गई थी और शहर को $1 का नुकसान झेलना पड़ा था और के दक्षिणी मध्य हिस्से में इमरजेंसी की घोषणा करनी पड़ी थी।
    • इस वर्ष बैरूत के बंदरगाह पर 4 अगस्त को दुर्घटनावश करीब 2750 टन अमोनिया नाइट्रेट अपर्याप्त तरीके से रखने की वजह से जबरदस्त धमाका हुआ जिसमें 190 लोग मारे गए और 6000 से ज्यादा लोग घायल हुऐ।ये इतिहास में होने वाला एक सबसे बड़ा गैर परमाणु धमाका था हिरोशिमा पर गिराए गए बम के बीसवे हिस्से के बराबर। लेकिन दिसंबर 1984 में भारत के भोपाल शहर में केमिकल प्लांट में जो गैस लीक होने की दुर्घटना हुई थी वह आधुनिक इतिहास की सबसे बड़ी औद्योगिक दुर्घटनाओं में से एक है इसमें 35 लोग कुछ दिनों के अंदर मारे गए थे और उसके बाद के सालों में फेफड़ों की बीमारी से 15,000 से ज्यादा लोग मारे गए थे और इसका असर दशकों तक लोगों पर रहा
    • वही ऑस्ट्रेलिया के जंगल में लगी आग 2019 के आखिर में शुरू हुई थी करीब 3 बिलियन जानवर इस आग से मर गए थे कम से कम 35 लोग भी साथ में मारे गए और इसने ऑस्ट्रेलिया के अनोखे वन्य जीवन को तहस-नहस कर दिया। था लेकिन सितंबर 1923 में आए भूकंप में जो आग लगी उस से जापान के टोक्यो से लेकर या को हा मा तक 140000 से ज्यादा लोगों की जान चली गई थी जी हां इंसानों की जान।
    • साल 2020 एक मुश्किल साल रहा है इसके बावजूद हम कुछ सकारात्मक बातो पर ध्यान कर सकते हैं ।यह ऐसा साल रहा जिसमें राजनीति में महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढ़ा। साल 2020 में उन देशों की संख्या 20 तक पहुंच गई जहां एक महिला देश का नेतृत्व कर रही है 1995 में ऐसे देशों की संख्या 12 थी वहीं कमला हैरिस पहली बार कोई महिला अमेरिका की उप राष्ट्रपति बनी जो अश्वेत दक्षिण एशियाई भी है
    • इसी तरह पर्यावरण के लिए भी अच्छी खबर आई कई कंपनियों ने कार्बन उत्सर्जन कम करने का वादा किया। नासा ने अक्टूबर में घोषणा की कि चांद पर पहले जितनी उम्मीद की गई थी उससे ज्यादा पानी मौजूद है इससे भविष्य के मिशन के लिए मदद मिल सकती है
    • पर इस साल हमने इस महामारी से कई सबक भी सीखें इनमें एक तो निश्चित तौर पर यह है कि लोग खूब हाथ साफ रख रहे हैं।
    • क्या माउथवॉश से कोरोना नष्ट जाता है?
      विशेषज्ञ कहते हैं नहीं माउथवॉश में आमतौर पर हेक्सिडीन होता है जो सिर्फ मामूली बैक्टीरिया नष्ट करने में ही सक्षम होता है इससे कोरोनावायरस का खात्मा नहीं हो सकता।
    • क्या कोरोना से ठीक होने के बाद हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है?
      विशेषज्ञ कहते हैं शुरू में डाटा के आधार पर यह पता चला कि कोरोना से मौत हो जाती है तब माना गया कि मौत का कारण फेफड़ों में संक्रमण है। जब अध्ययन हुए तो पाया गया कि थोरमबस बन जाता है तो क्लॉटिंग ज्यादा हो जाती है जिससे हार्टअटैक होता है बच्चों टीनएजर्स या युवाओं में कावासाकी डिजीज होने की खबरें भी आई यह भी देखा गया कि संक्रमित युवाओं को यह बीमारी हो रही है। दरअसल कोरोना मे कलाटिंग ज्यादा होने के कारण हार्ट अटैक की आशंका बढ़ जाती है।
    • मौसम
      उत्तर भारत में हुई बर्फबारी के कारण उत्तर व उत्तर पश्चिम से आने वाली सर्द हवाओं के कारण शहर में ठंड का असर बढ़ा हुआ है और इसके अगले सप्ताह भी ऐसे ही बने रहने के आसार हैं।
      शहर में ठंड का असर दिनों दिन बढ़ता जा रहा है। आज तापमान रहा अधिकतम 24 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 9 डिग्री सेल्सियस
    • ये थी अब तक की अपडेट्स, हम फिर आएंगे और अपडेट्स लेकर बने रहिए हमारे साथ….
    Happy
    Happy
    0 %
    Sad
    Sad
    0 %
    Excited
    Excited
    0 %
    Sleppy
    Sleppy
    0 %
    Angry
    Angry
    0 %
    Surprise
    Surprise
    0 %

    Average Rating

    5 Star
    0%
    4 Star
    0%
    3 Star
    0%
    2 Star
    0%
    1 Star
    0%

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *