• Fri. Jul 12th, 2024

Udaipur News

Udaipur News Today | Udaipur News Live | उदयपुर न्यूज़ | उदयपुर समाचार

Udaipur Latest News 28 October 2023 उदयपुर की ताजा खबर Udaipur latest News 28 October 2023 उदयपुर की ताजा खबर Udaipur Latest News 28 October 2023 उदयपुर की ताजा खबर

Byadmin

Oct 28, 2023
  • हेलो फ्रेंड्स हम हाजिर हैं आज की अपडेट्स लेकर…..
  • मीराबाई की जयंती पर भावभीनी श्रद्धांजलि ….. भगवान कृष्ण की अनन्य भक्त ….. उनके भजन और दोहे आज  श्रद्धा और भक्ति भाव पैदा करते हैं और उनका जीवन समाज के लिए एक प्रेरणा है।
  • इजरायल ने गजा में संयुक्‍त राष्‍ट्र की मानवीय आधार पर संघर्ष विराम की अपील खारिज कर दी है और कहा है कि वह अपना बचाव करना जारी रखेगा। संयुक्‍त राष्‍ट्र मेंइजरायल के दूत ने कहा है कि संयुक्‍त राष्‍ट्र की कोई वैधता या प्रासंगिकता नही रह गयी है।  उनका देश हमास के खिलाफ प्रत्‍येक उपाय का प्रयोग करेगा। दूत ने कहा कि यह संयुक्‍त राष्‍ट्र और मानवता के लिए काला दिवस है।

    शुक्रवार को संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा ने इजरायल और हमास के बीच मानवीय आधार पर तत्‍काल संघर्ष विराम का आह्वान किया था।विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के महानिदेशक ने गजा में तत्‍काल संघर्ष विराम, स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं, कार्यकर्ताओ और रोगियों के बचाव तथा जीवन रक्षक सामग्री तक पहुंच का आह्वान किया है।उन्‍होंने सोशल मीडिया पर एक पोस्‍ट में कहा है कि विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन का गजा में अपने कर्मचारियों से संपर्क खत्‍म हो गया है। उन्‍होंने कहा की गजा में तेज बमबारी की खबरें डराने वाली हैं और कर्मचारियों की सुरक्षा स्थिति चिंताजनक है।बमबारी के कारण रोगियों की निकासी संभव नहीं है और सुरक्षित आश्रय भी नही मिल पा रहा है। एंबुलेंस भी घायलो तक नही पहुच पा रही है

  • शनिवार को शरद पूर्णिमा के साथ कार्तिक मास का प्रारंभ हो गया है. इसके साथ ही एक महीने तक चलने वाला कार्तिक स्नान का भी शुभारंभ हो गया है. शनिवार को कार्तिक स्नान के पहले दिन धामिक नगरी पुष्कर स्थित पुष्कर सरोवर में पवित्र स्नान के लिए श्रद्धालुओं को हुजूम जुटा. श्रद्धालुओं ने पुष्कर सरोवर में स्नान के बाद मंदिरों में दर्शन कर सरोवर की परिक्रम लगाई और गायों को चारा खिलाया.  पूरे माह कार्तिक मास में सुबह सूर्योदय से पहले स्नान किया जाता है. कई लोग नदी, सरोवर आदि में स्नान करते हैं तो कई लोग अपने घर में ही स्नान करते हैं. अजमेर के पुष्कर में बड़ी संख्या श्रदालु पूरे माह पवित्र सरोवर में आस्था की डुबकी लगाएंगे जबकि कई पांच दिन तक चलने वाले कार्तिक माह के पंचतीर्थी स्नान का धर्मलाभ कमाएंगे. आज शनिवार शरद पूर्णिमा का स्नान करने के लिए अलसुबह से सरोवर के मुख्य घाटों पर श्रदालुओं का जमावड़ा होने लगा. श्रदालुओं ने आस्था की डुबकी लगाने के बाद वैदिक मंत्रोच्चार के साथ पवित्र सरोवर की पूजा-अर्चना कर पंडितों को दान दक्षिणा दी.  पदम् पुराण में कार्तिक माह में पुष्कर सरोवर स्नान का विशेष महत्व बताया गया है और पंचतीर्थी स्नान के दौरान तो 33 करोड़ देवी देवता पाँच दिनों तक पुष्कर में ही विराजते हैं.ग्रहण के सूतक के चलते शुक्रवार को ही शरद पूर्णिमा मानकर भगवान चंद्रमा के खीर का भोग लगाया.  शरद पूर्णिमा का चंद्रमा 16 कलाओं से निपुण होता है इसलिये खीर का भोग लगाने से परिवार में खुशहाली आती है.  शरद पूर्णिमा के दिन 52 घाट स्नान का विशेष महत्ब बताया गया है. शरद पूर्णिमा स्नान के बाद श्रदालुओं ने मंदिरों के दर्शन कर सरोवर की परिक्रमा लगाई और गायों को चारा खिलाया.आज आश्विन शुक्ल पक्ष पूर्णिमा शनिवार को भारत में चन्द्रग्रहण दृश्यमान होगा. जिसके चलते दोपहर 4 बजकर 5 मिनट पर चन्द्र ग्रहण का सूतक प्रारम्भ हो जाएगा और सूतक लगने से पूर्व ब्रह्मा मन्दिर के गर्भगृह का द्वार तथा मन्दिर का मुख्य द्वार सभी श्रद्धालुओं के लिय बन्द कर दिए .चन्द्रग्रहण की शुद्धि 28 अक्टूबर को रात्रि में 2 बजकर 23 मिनट पर होगी. ग्रहण की शुद्धि के बाद मन्दिर का निज गर्भगृह का द्वार व मुख्य द्वार 29 अक्टूबर 2023 को प्रातः कालीन मंगला आरती के समय सुबह 5 बजकर 30 मिनट पर खोला जाएगा.
    इसके बाद सरोवर में शुद्ध स्नान प्रारंभ हो जाएगा. देशभर से आए श्रद्धालु पुष्कर सरोवर में आस्था के डुबकी लगाकर अपने घरों की ओर प्रस्थान करेंगे. ग्रहण काल में जाप और देव सुमिरन के विशेष महत्व के चलते सरोवर पर आज सुबह से ही श्रद्धालुओं का तांता लगा शुरू हो गया है.आज यानी शरद पूर्णिमा के दिन साल 2023 का आखिरी चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है. राजस्थान समेत देश के अन्य राज्यों और शहरों से भी इसे देखा जा सकेगा. चंद्र ग्रहण के मद्देनजर प्रदेश के सभी बड़े मंदिरों के कपाट बंद रहेंगे.शनिवार शाम 4.05 बजे से रविवार सुबह 3.56 बजे तक सूतक काल रहेगा. इस दौरान प्रसिद्ध श्रीसांवलिया सेठ, शनि महाराज आली समेत कई मंदिरों के पट बंद रहेंगे. सूतककाल के चलते भक्तगण 29 अक्टूबर को सुबह साढ़े 5 बजे ही मंगला दर्शन कर पाएंगे. बीते 14 अक्टूबर को साल का आखिरी सूर्य ग्रहण अमावस्या तिथि पर लगा था और अब कुछ ही दिनों बाद शरद पूर्णिमा के दिन साल का आखिरी चंद्र ग्रहण  है.

    चंद्र ग्रहण का सूतक ग्रहण शुरू होने से ठीक 9 घंटे पहले से शुरू हो जाता है और ग्रहण खत्म होने के साथ सूतक भी खत्म हो जाता है. चंद्र ग्रहण के समय दान-पुण्य करने का विशेष महत्व है. अगर इस दौरान राशि अनुसार दान किए जाते हैं तो कुंडली के कई दोषों का असर कम सकता है. 28 अक्तूबर को लगने वाला चंद्रग्रहण भारत में दिखाई देगा जिस कारण से इसका सूतक काल मान्य रहेगा. इस बार साल के दूसरे चंद्र ग्रहण का सूतक 28 अक्टूबर की दोपहर 4:05 मिनट से शुरू हो जाएगा. सूतक काल को अशुभ माना जाता है. जब पृथ्वी सूर्य और चंद्रमा के बीच आ जाती है तब चंद्र ग्रहण लगता है. वैज्ञानिक नजरिए से ग्रहण एक खगोलीय घटना मात्र होता है, लेकिन धार्मिक दृष्टि से ग्रहण की घटना को शुभ नहीं माना जाता है. चंद्र ग्रहण को चंद्रमा के ग्रहण के रूप में जाना जाता है.

     इस बार कई साल बाद शरद पूर्णिमा के दिन चंद्रग्रहण लगने जा रहा है और इस दिन रात में खीर भी खुले आसमान में रखी जाती है, ताकि उसमें चन्द्रमा सें अमृत वर्षा हो सके, लेकिन इस साल खीर को पूरी रात बाहर ना रखें, इससे वह दूषित हो जाएगी।

    उदयपुर शहर के प्रसिद्ध जगदीश मंदिर में शरद पूर्णिमा पर होने वाला आयोजन इस बार ग्रहण के कारण पूर्णिमा के एक दिन पूर्व ही बीती शनिवार की रात को हुए। इस प्रकार के आयोजन अन्य मंदिरों में भी हुए।

    मौसम में सर्दपन आने के साथ ही राजस्थान के ज्यादातर शहरों की आबोहवा खराब होने लगी है। उदयपुर सहित पूरे प्रदेश के अनेक हिस्सों में इन दिनों वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआइ) में उछाल देखा गया है। वायु प्रदूषण के बढ़ते स्तर का ही नतीजा है कि शहर का वायु प्रदूषण मध्यम श्रेणी में पहुंच गया है। उदयपुर का एक्यूआइ 94 दर्ज किया गया। यानी प्रदूषण के मध्यम स्तर के नजदीक पहुंच गया। ऐसे में उदयपुर येलो जोन में है।

    राजस्थान में गुरुवार को हवा में प्रदूषण का स्तर जयपुर में 148, झुंझुनू में 119, झालावाड़ में 152, जैसलमेर में 194, भिवाड़ी में 276, भरतपुर में 169, बीकानेर में 187, राजसमंद में 102, सीकर में 138, टोंक में 202, बाड़मेर में 92, बूंदी में 163, भीलवाड़ा में 128, कोटा में 138, पाली में 60, बारां में 135, चूरू में 158, चित्तोड़गढ़ में 162, दौसा में 171, जोधपुर में 132, प्रतापगढ़ में 110 और अलवर में 94 दर्ज किया गया है।

    प्राय: वायु प्रदूषण का कारण उद्योगों की चिमनी से निकलते धुएं को माना जाता है। लेकिन इन दिनों जिन क्षेत्रों में उद्योग इकाई ज्यादा संख्या में नहीं है, वहां भी प्रदूषण का स्तर ज्यादा पहुंच रहा है। जबकि उदयपुर में प्रदूषण का स्तर बढ़ने का कारण टूटी सड़कों से उडती धूल, फेक्टि्यां आदि भी रहे हैं। इसके अलावा जलाए जाने वाला कचरा भी इस प्रमुख कारण माना जा रहा है। जो शहर की आबोहवा को दूषित कर रहा है।

    0 और 50 के बीच एक्यूआइ को ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’ माना जाता है। जबकि 201 और 300 के बीच ‘खराब’ तथा 301 और 400 के बीच ‘बेहद खराब’ तथा 401 से 500 के बीच ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है।

     

    निष्पक्ष एवं भयमुक्त विधानसभा चुनाव संपन्न करवाने के लिए भारत निर्वाचन आयोग ने इस बार अनूठा नवाचार किया है। जिसके तहत आपराधिक रिकॉर्ड वाले उम्मीदवार को प्रत्याशी बनाए जाने पर राजनीतिक दलों को प्रमुख समाचार पत्रों एवं प्रमुख न्यूज चैनल में विज्ञापन प्रकाशित एवं प्रसारित कर अपना स्पष्टीकरण जारी करना होगा।
     भारत निर्वाचन आयोग के आदेश की अनुपालना की जा रही है। जिसके तहत राजनैतिक दल द्वारा अभ्यर्थी के रूप में चुने गए आपराधिक मामलों वाले व्यक्ति से संबंधित सूचना के साथ-साथ ऐसे चयन के कारण सहित बिना आपराधिक पूर्ववृत वाले अन्य व्यक्तियों को अभ्यर्थी के रूप में क्यों नहीं चुना गया।
    साथ ही, इससे संबंधित विवरण अभ्यर्थी का चयन किए जाने के 48 घंटों के भीतर अथवा नाम निर्देशन प्रारम्भ होने की तिथि से दो सप्ताह पूर्व नहीं हो, सलन्न फॉर्मेट सी-7 में समाचार पत्र में प्रकाशन किया जायेगा। उक्त प्रकाशन एक बार राष्ट्रीय समाचार पत्र में तथा एक बार स्थानीय समाचार पत्र में किया जाना आवश्यक होगा। राजनैतिक दलों को राष्ट्रीय और स्थानीय समाचार-पत्र का चयन करते समय आयोग के निर्देश की पालना सुनिश्चित करनी होगी। इसके अतिरिक्त सी-7 को सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी प्रकाशित किया जाएगा एवं साथ ही नवीनतम दिशा-निर्देशों के अनुसार राजनैतिक दलों द्वारा यह सूचना अपनी वेबसाइट के होमपेज भी प्रदर्शित करनी होगी। होमपेज पर एक कैप्शन जिसमें आपराधिक पृष्ठभूमि वाले उम्मीदवार लिखा हो भी प्रदर्शित करना आवश्यक होगा।
    राजनैतिक दल को आपराधिक पूर्ववृत वाले अभ्यर्थियों के संबंध में फॉर्मेट सी-7 में प्रकाशन की सूचना अभ्यर्थी के चयन के 72 घंटों के भीतर अथवा नाम निर्देशन प्रारम्भ होने की तिथि से कम से कम दो सप्ताह पूर्व, जो भी पहले हो फार्मेट सी-8 में रिपोर्ट भारत निर्वाचन आयोग, नई दिल्ली को भेजनी होगी।

    राजस्थान के सहकारिता मंत्री और निम्बाहेड़ा से कांग्रेस प्रत्याशी  के उदयपुर में ऑफिस  पर मुंबई से आई इनकम टैक्स विभाग की 6 टीमों ने शनिवार को रेड डाली है। यहां नेशनल हाईवे से जुड़े कामकाज होते हैं। विभाग की टीम ने दस्तावेजों की जांच शुरू कर दी है। शनिवार शाम 4:30 बजे इनकम टैक्स विभाग की टीमों ने यहां एंट्री की

    हर साल 29 अक्टूबर को देश भर में विश्व स्ट्रोक दिवस मनाया जाता है और लोगो को अपने शरीर के प्रति जागरूक किया जाता हैइसी कड़ी में लेकसिटी उदयपुर के महाराणा भूपाल चिकित्सालय के एसएसबी इकाई में विश्व स्ट्रोक दिवस के एक दिन पहले शनिवार को जागरूकता कार्यक्रम अयोजित किया गया।इस अवसर पर न्यूरो विभाग के हेड डाक्टर ने कार्यकम में मौजूद  लोगो को स्ट्रोक जैसी गम्भीर विषय पर जानकारी दी। वही  एक प्रदर्शनी भी लगाई गई। जिसमे हॉस्पिटल आने वाले को लोगो को जागरूक किया जाएगा। इस अवसर पर न्यूरो विभाग के हेड डॉक्टर ने कहा कि किसी को भी स्ट्रोक आने पर यदि जल्दी समय रहते हॉस्पिटल पहुंचाया जाए, तो इससे बचा जा सकता है साथ मरीज जल्दी सही हो सकता है। लेकिन अभी भी लोग जागरूक नहीं है ऐसे में देर हो जाती हे और स्ट्रोक का पूरी बॉडी में असर हो जाता है।

  • चीन के हांगचाओ में चौथे एशियाई पैरा खेलों में भारत ने ऐतिहासिक प्रदर्शन करते हुए कुल 111 पदकों के साथ पांचवां स्‍थान प्राप्‍त किया। भारत ने 29 स्‍वर्ण, 31 रजत और 51 कांस्‍य पदक जीते। इससे पहले भारत ने इंडोनेशिया में वर्ष 2018 में तीसरे पैरा एशियाई खेलों में सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन करते हुए 72 पदक जीते थे। भारतीय पैरा एथलीटों ने 23 सितंबर से आठ अक्तूबर तक आयोजित हांगझोऊ एशियाई खेलों में भारत द्वारा जीते गए 107 पदकों के रिकॉर्ड से चार पदक अधिक जीते।

    एथलेटिक्स में भारत के कुल 111 में से सर्वाधिक 55 पदक जीते। बैडमिंटन खिलाडियों ने चार स्वर्ण सहित 21 पदकों के साथ दूसरा सबसे बड़ा योगदान दिया। शतरंज में आठ और तीरंदाजी में सात पदक जीते, जबकि निशानेबाजी ने छह पदक प्राप्‍त किए। आज अंतिम दिन भारत ने चार स्वर्ण सहित 12 पदक अपने नाम किए। सात पदक शतरंज से, चार एथलेटिक्स से और एक रोइंग से आया।

    पदक तालिका में मेजबान चीन  214 स्वर्ण, 167 रजत और 140 कांस्य पदकों सहित कुल 521 पदक जीतकर शीर्ष पर रहा। ईरान ने दूसरा स्‍थान प्राप्‍त किया। उसने 44 स्वर्ण, 46 रजत और 41 कांस्य पदक जीतकर कुल 131 पदक जीते। जापान ने 42 स्वर्ण सहित कुल 150 पदक जीते और तीसरा स्‍थान प्राप्‍त किया। दक्षिण कोरिया 30 स्वर्ण, 33 रजत और 40 कांस्य पदकों सहित कुल 103 जीतकर चाथे स्‍थान पर रहा।

     

  • मौसमराजस्थान के विंड पैटर्न में बदलाव से तीन दिन से मौसम शुष्क होने लगा है। दिन और रात का तापमान बढ़ने से ग्रामीण इलाकों में हल्की धुंध छाने लगी है। मध्यरात्रि बाद सर्द वातावरण के कारण सुबह- शाम लोग गर्म कपड़ाें में लिपटे नजर आ रहे है। मौसम विभाग के अनुसार 29 अक्टूबर तक मौसम शुष्क रहेगा। जिससे तापमान में उतार-चढ़ाव आएगा।मौसम केन्द्र जयपुर के अनुसार इस सप्ताह के अंत तक अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में बने चक्रवात का असर नहीं होने से कोई नया मौसम तंत्र नहीं बनने के आसार है। जिससे मौसम में ज्यादा बदलाव नहीं आएगा। अगले सप्ताह 2 नवंबर के बाद से मौसम में बदलाव आने से सर्दी बढ़ने के आसार है।
    पहाड़ी पर्यटन स्थल माउंट आबू में बार-बार बदलते मौसम के चलते बुधवार को न्यूनतम तापमान में एक डिग्री सेल्सियस की गिरावट आने से तापमापी का 11 डिग्री सेल्सियस पर पहुंचने से सर्दी रंग दिखाने लगी है। जिसके चलते सवेरे लोगों को हल्के गर्म कपड़ों का सहारा लेना पड़ा।

    अधिकतम तापमान में भी 0.5 डिग्री सेल्सियस गिरने से तापमान 27.5 डिग्री सेल्सियस पर रहा। सवेरे वादियों में हल्का कोहरा छाया रहा जो दिन चढ़ने के बाद धीरे-धीरे छंट गया। सवेरे-शाम वातावरण में घुली गुलाबी सर्दी की के बीच पर्यटकों ने सड़क़ों, बाजारों में चहलकदमी कर प्राकृतिक सौंदर्य को निहारते हुए मौसम का लुफ्त उठाया। सैलानियों ने दर्शनीयस्थलों का अवलोकन करते हुए पर्यटन यात्रा को यादगार बनाया।

  • उदयपुर में  पिछले 24 घंटों के दौरान  तापमान रहा अधिकतम 31 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम  16  सेल्सियस
  • तो ये थीं अब तक की अपडेट्स हम फिर आएंगे और अपडेट्स लेकर बने रहिए हमारे साथ…

Leave a Reply

Your email address will not be published.