• Fri. Jul 12th, 2024

Udaipur News

Udaipur News Today | Udaipur News Live | उदयपुर न्यूज़ | उदयपुर समाचार

UdaipurLatest News thursday 04 January 2024 उदयपुर की ताजा खबर Udaipur latest News thursday 04 January 2024 उदयपुर की ताजा खबर Udaipur Latest News thursday 04 January 2024

Byadmin

Jan 4, 2024
  • हेलो फ्रेंड्स हम हाजिर हैं आज की अपडेट्स लेकर…..
  • अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाले प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के लिए तैयारियां अंतिम दौर में है। इस बीच बृहस्पतिवार को श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने निर्माणाधीन राम मंदिर की नई तस्वीरें जारी की हैं।

    ये तस्वीरें श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के भव्य सिंहद्वार की हैं। ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय के अनुसार, मंदिर का भूतल तैयार हो गया है।

    अयोध्या में बन रहा तीन मंजिला राम मंदिर पारंपरिक नागर शैली में बनाया गया है। मुख्य गर्भगृह में श्रीराम लला की मूर्ति है और पहली मंजिल पर श्री राम दरबार होगा। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अनुसार, राम मंदिर में 5 मंडप (हॉल) होंगे। इसमें नृत्य मंडप, रंग मंडप, सभा मंडप, प्रार्थना और कीर्तन मंडप होंगे।

    अयोध्या में बन रहा तीन मंजिला राम मंदिर पारंपरिक नागर शैली में बनाया गया है। मुख्य गर्भगृह में श्रीराम लला की मूर्ति है और पहली मंजिल पर श्री राम दरबार होगा। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अनुसार, राम मंदिर में 5 मंडप (हॉल) होंगे। इसमें नृत्य मंडप, रंग मंडप, सभा मंडप, प्रार्थना और कीर्तन मंडप होंगे।देवी-देवताओं की मूर्तियां मंदिर के स्तंभों और दीवारों को सुशोभित करती हैं। 32 सीढ़ियां चढ़कर श्रद्धालु सिंहद्वार से एंट्री कर सकेंगे। मंदिर के चारों तरफ आयताकार परकोटा रहेगा। मंदिर में दिव्यांग और बुजुर्ग तीर्थयात्रियों के लिए विशेष सुविधाएं हैं।मंदिर ट्रस्ट का कहना है कि मंदिर के पास एक ऐतिहासिक कुआं (सीता कूप) है, जो प्राचीन काल का है। इसके अलावा, 25,000 लोगों की क्षमता वाला एक तीर्थयात्री सुविधा केंद्र (पीएफसी) का निर्माण किया जा रहा है। यह तीर्थयात्रियों के लिए चिकित्सा सुविधाएं और लॉकर सुविधा प्रदान करेगा।
    आपदा प्रबन्धन, सहायता एवं नागरिक सुरक्षा विभाग ने शीत लहर (शीतघात) के प्रकोप से बचाव हेतु विभागीय एवं जिला स्तर पर आवश्यक कदम उठाने के लिए एडवायज़री जारी की है। आपदा प्रबन्धन विभाग के शासन सचिव श्री पी सी किशन ने बताया कि संभावित शीतलहर (शीतघात) के प्रकोप को गंभीरता से लेते हुए इससे होने वाली क्षति को कम करने हेतु विभागीय एवं जिला स्तर पर सभी आवश्यक कदम उठाए जाये।एडवायजरी के अनुसार समस्त जिला आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण, राष्ट्रीय आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण के संशोधित दिशा-निर्देशों अनुसार स्थानीय जिला शीतलहर कार्य योजना तैयार की जाये एवं भारतीय मौसम विज्ञान द्वारा जारी शीतलहर चेतावनी को जिला कमांड और नियंत्रण केंद्र के माध्यम से जन सामान्य तथा सम्बंधित विभागों तक पहुचाने हेतु आवश्यक व्यवस्था करनी होगी।नगरीय विकास विभाग चिकित्सा सुविधा, बिजली, भोजन, जल आपूर्ति जैसी आवश्यक सेवाए के साथ आश्रय/रेन बसेरे का संचालन सुनिश्चित करेंगे एवं स्कूल शिक्षा विभाग स्कूल तथा शैक्षणिक संस्थाओं का कार्य समय भारतीय मौसम विज्ञान द्वारा शीत लहर से सम्बंधित दी गयी चेतावनी के अनुसार एवं विधिवत स्कूल खुलने के समय में परिवर्तन करने हेतु आवश्यक आदेश जारी किये जाऐंगे।एडवायजरी के अनुसार चिकित्सा स्वास्थ एवं परिवार कल्याण विभाग को जिले में स्थित सभी शासकीय अस्पतालों में शीत लहर प्रभावित के उपचार हेतु विशिष्ट कार्य योजना बनाने की सलाह दी गई है ताकि बच्चो, दिव्यांगो, महिलाओं और वृद्धों की विशेष देखभाल उचित प्रकार से हो सके। ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग पंचायत भवनों में शीत लहर से बचाव के उपाए से सम्बंधित प्रचार-प्रसार करेंगे, श्रमिकों को शीत लहर से बचाव सम्बन्धी आवश्यक जानकारी उपलब्ध करायेंगे।श्रम विभाग औद्योगिक एवं अन्य क्षेत्रों के कामगारों को शीत लहर से बचाव सम्बन्धी आवश्यक जानकारी उपलब्ध करायेंगे तथा सार्वजानिक निर्माण विभाग को सड़क किनारे बेघर/प्रभावित लोगो को आश्रय गृहों में स्थानान्तरित करने कि व्यवस्था करेंगे। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग ऐसे स्थलों को चिन्हित करेंगे, जहाँ भिक्षुक अथवा शारीरिक रूप से कमजोर एवं निशक्तजन अधिक संख्या में रहते हो तथा उन जगहों पर रेन बसेरे की व्यवस्था करना सुनिश्चित करेंगे।पशुपालकों को सलाह दी गई है कि शीत लहर के दौरान जानवरों और पशुधन को जीविका के लिए भोजन की आवश्यकता होती है क्योंकि उर्जा कि आवश्यता बढ़ जाती है एवं तापमान में अत्यधिक भिन्नता मवेशियों के प्रजनन दर को प्रभावित कर सकती है जिससे ठंडी हवाओं के सीधे संपर्क से बचने के लिए रात के दौरान सभी पशु आवास को सभी दिशाओं से ढकें। किसानों को सलाह दी गई है कि शीतलहर और ठंड से फसल के अंकुरण तथा प्रजनन के दौरान शीत लहर से काफी भौतिक विघटन होता है अथवा इससे बचने के लिए शीत लहर के दौरान प्रकाश और लगातार सतह सिंचाई करें और बगीचे में धुंआ करके भी फसलों को शीतघात से बचाया जा सकता है।राजस्थान पुलिस को एडवायज़री जारी कर बताया गया कि घने कोहरे की स्थिति के दौरान यातायात प्रबन्धन सुनिचित किया जाये एवं घने कोहरे के दौरान अग्रिम सुरक्षा उपाए लागू किये जायें। उर्जा विभाग बिजली सयंत्रों में सभी रख-रखाव गतिविधियों को समयानुसार पूरा करना ताकि शीत लहर के दौरान पावर कट की स्थिति नही बने। सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा राज्य में शीत लहर की स्थिति की निगरानी हेतु dash board/interface तैयार कर शीत लहर सम्बन्धी चेतावनी भेजने की व्यवस्था की जायेगी।
  • उत्तर भारत में ठंढ़ का प्रकोप जारी है. पूरे क्षेत्र में शीतलहर  की वजह से लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. वहीं, शीतलहर की वजह से स्कूल की छुट्टियां  की गई थी. लेकिन लगातार शीतलहर बढ़ने से स्कूल की छुट्टियां आगे बढ़ा दी गई है. राजस्थान  में शीतलहर चरम पर पहुंच चुका है. यहां तापमान 3 से 5 डिग्री तक पहुंच चुकी है. वहीं, अभी शीतलहर से राहत के भी आसार नहीं दिख रहे हैं. क्योंकि मौसम विभाग ने 8 जनवरी के बाद से नये विक्षोभ की आशंका जाहिर की है. ऐसे में नौनिहालों का अभी स्कूल जाना मुश्किल है.

    स्कूली बच्चों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए शीतलहर की वजह से देश के कई राज्यों में स्कूल की छुट्टी कर दी गई है. वहीं, 5 जनवरी खुलने वाले स्कूल अब और आगे बढ़ा दिये गए हैं. राजस्थान की राजधानी जयपुर में 4 जनवरी को एक आदेश जारी किया गया है जिसमें स्कूल की छुट्टी एक हफ्ते के लिए बढ़ा दी गई है.

    जिला कलेक्टर के द्वारा जारी किये आदेश के मुताबिक, अब स्कूल 13 जनवरी तक के लिए बंद कर दिये गए हैं. हालांकि, इसके बाद 14 जनवरी रविवार है. तो अब स्कूल 15 जनवरी से खोले जा सकते हैं. हालांकि, सर्दी का सितम ऐसा ही रहा तो शायद अवकाश को आगे बढ़ाया जा सकता है.

    आपको बता दें, पहले 25 दिसंबर से 5 जनवरी तक के लिए शीतकालीन अवकाश घोषित की गई थी. लेकिन आदेश में कहा गया है कि आगामी दिनों में तापमान गिरने से सर्दी का प्रकोप बढ़ने और शीत लहर की अधिक संभावना को देखते हुए जिला शिक्षा अधिकारी, माध्यमिक और प्रारम्भिक शिक्षा, जयपुर द्वारा शीतकालीन अवकाश की अपील की गई है. जयपुर जिले के सभी राजकीय और गैर राजकीय स्कूल में क्लास 8वीं तक 6 जनवरी से 13 जनवरी तक के लिए अवकाश घोषित गया है.

    आगामी दिनों में तापमान गिरने से सर्दी का प्रकोप बढ़ने और शीतलहर चलने की संभावना को देखते हुए जिला कलक्टर ने अवकाश के आदेश जारी किये हैं। हालाकीं, इस दौरान शिक्षकों एवं अन्य संचालित परीक्षाओं का समय यथावत रहेगा।आदेश की अवहेलना करने वाले राजकीय एवं निजी विद्यालयों के खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

    उदयपुर शहर में आरके सर्कल से सेलीब्रेशन एवं शोभागपुरा क्षेत्र में नियम विपरीत निर्माण और अवैध निर्माण 24 घंटे में हटाए जाएंगे।उदयपुर नगर निगम द्वारा आचार संहित हटने के बाद फिर से ‘कथित’ अतिक्रमण के खिलाफ शहर के अलग अलग क्षेत्रों में कार्यवाही की जा रही है। इसके पीछे, निगम के अधिकारी शहर की जनता को ट्रैफिक जाम की समस्या से निजात दिलाने को कारण बता रहे हैं।

    लगातार जारी इस अतिक्रमण विरोधी कार्यवाही और निगम द्वारा शहर की सडकों को अतिक्रमण मुक्त बनाने के प्रयासों के बीच दूसरी तरफ, कुछ ठेला व्यवसाई बेधड़क सड़क पर अपना कारोबार चला रहें हैं। कहीं सड़क पर ठेला लगाकर कारोबार जारी है, तो कहीं कुछ ठेले वाले अपना कारोबार, अधिकारीयों के बंगलों की दीवारों से सट कर ही चला रहे हैं। शहर में इस तरीके से illegal पार्किंग के खिलाफ खबरें प्रकाशित होने के बाद पुलिस महकमे ने गंभीरता दिखाते हुए विभिन्न चौराहों और रेस्टोरेंट्स के बाहर बेतरतीब खड़े वाहनों के खिलाफ एक्शन लेना शुरू कर दिया है। इसके चलते गुरुवार 4 जनवरी को दिल्ली गेट स्थित पुलिस कंट्रोल रूम के सामने रेस्टोरेंट के बाहर खड़े वाहनों को हटाया गया। 

    अतिक्रमण के नाम पर ठेलों और दुकान के बाहर बने हुए कन्स्ट्रक्शन को हटाने का कार्य एक तरफ, मगर नगर निगम को यह भी बताना ज़रूरी है, कि भुवाना स्थित जगहों पर और शहर के बीचो बीच कई जगहों पर बने रेस्ट्रोरेंट्स के बहार, वहां खाना खाने आने वाले मेहमानों की गाड़ियां सड़क पर बेतरतीब तरीके से पार्क की जा रही है, जिस से सड़क का बड़ा हिस्सा अवरोध हो रहा है और वहां से गुज़रने वाले वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है और इस से अक्सर गाड़ियों की लम्बी लम्बी कतारें भी लग जाती है, जिनपर ध्यान देने की आवश्यकता है। बहरहाल शहर में लगातार कार्यवाही हो रही है। बुधवार और गुरुवार को भी निगम के बुलडोज़र ने फिर अपना रूप दिखाते हुए अतिक्रमण को ध्वस्त किये।  कई ठेले और केबिन ज़ब्त किए गए। यह कार्यवाही तब तक जारी रहेगी जब तक की पूरे शहर से अतिक्रमण नहीं हट जाए।  दिल्ली गेट चौराहे पर भी पुलिस स्टेशन के बिल्कुल सामने बरसों से अतिक्रमण और अवैध पार्किंग हो रही है, जिस पर पिछले 20 सालों से न तो निगम ने ध्यान दिया और न ही पुलिस महकमे ने।

    एक तरफ जहां अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही चल रही है, वहीं दूसरी तरफ नए सिरे से निगम झील किनारे सफाई अभियान की शुरुआत की गई है। नगर निगम द्वारा शहर की झीलों के किनारे कंटीली झाड़ियां एवं अन्य खरपतवार (WEEDS) को हटाकर सुंदर बनाने का कार्य आरंभ किया गया है।

  • भारत ने दक्षिण अफ्रीका को दूसरे टेस्‍ट मैच में हरा दिया है। इसके साथ ही दो टेस्‍ट मैंचों की श्रृंखला में दोनों टीमें एक-एक मैच जीतकर बराबरी पर रहीं।

    केप्‍टाऊन में आज दूसरे दिन भारत ने दक्षिण अफ्रीका को सात विकेट से हराकर इतिहास रच दिया। भारत ने 31 साल के इतिहास में पहली बार केपटाउन में कोई टेस्ट मैच जीता है। यह टेस्ट क्रिकेट के इतिहास का सबसे छोटा मैच रहा, जब कोई टेस्‍ट मैच दो दिन में समाप्‍त हो गया। भारत ने दूसरी पारी में जीत के लए 79 रन का लक्ष्‍य तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया।

    इससे पहले दक्षिण अफ्रीका ने पहली पारी में 55 और दूसरी पारी में 178 रन बनाए, जबकि भारत ने पहली पारी में 153 रन और दूसरी पारी में 80 रन बनाए थे। रोहित शर्मा दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट सीरीज ड्रॉ कराने वाले दूसरे भारतीय कप्तान बने। भारत की ओर से इस मैच में मोहम्‍मद सिराज ने सात विकेट हासिल किये जबकि जसप्रीत बुमराह ने कुल आठ विकेट अपने नाम किये। मोहम्‍मद सिराज को प्‍लेयर ऑफ द मैच चुना गया, जबकि जसप्रीत बुमराह और दक्षिण अफ्रीका के कप्‍तान एलगर को प्‍लेयर ऑफ द सीरिज़ चुना गया।

  • बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्‍स 491 अंक बढकर 71 हजार 848 अंकों पर बंद हुआ। निफ्टी भी 141 अंक की तेजी के साथ 21 हजार 659 अंकों पर जा पहुंचा। अंतर-बैंकिंग विदेशी मुद्रा बाजार में एक अमेरिकी डॉलर की कीमत 83 रुपये 23 पैसे दर्ज की गई।
  • ।उदयपुर में दोनों कीमती धातुओं के भाव इस प्रकार रहे
  • सोना 22 कैरेट 1 ग्राम₹  5914 सोना 24 कैरेट 1 ग्राम ₹ 6210
    चांदी 1 किलो बार का भाव रहा ₹₹ 78000
  • मौसम
  • मौसम विभाग ने कहा है कि पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्‍थान में अगले दो दिन शीत लहर जारी रहेगी। अगले तीन दिनों में देश के उत्तर-पश्चिम और पूर्वी भागों के मैदानी इलाकों के कुछ हिस्सों में घना कोहरा छाया रह सकता है।

    अगले 3 दिन मध्य और पूर्वी हिस्सों में न्यूनतम तापमान 2 से 3 डिग्री सेल्सियस बढ़ने की संभावना है। वही अगले 5 दिनों में उत्तर भारत के बाकी हिस्सों में न्यूनतम तापमान में कोई खास बदलाव देखने को नहीं मिलेगा। पिछले 24 घंटों में, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और राजस्थान के अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान 4 से 8 डिग्री सेल्सियस के बीच रहा। दिल्ली, पूर्वी उत्तर प्रदेश, उत्तरी मध्य प्रदेश, बिहार और दक्षिणी राजस्थान में तापमान 9 से 12 सेल्सियस के बीच रहा।

    दक्षिणी तमिलनाडु, दक्षिण केरल और लक्षद्वीप में कुछ स्थानों पर अगले 4-5 दिनों में हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। उत्तरी भारत में शीत लहर के बीच राष्ट्रीय राजधानी और आसपास के इलाकों में घना कोहरा छाया रहा, जिसके कारण आज दिल्ली आने वाली 26 ट्रेनें देरी से चलीं।

    राष्ट्रीय राजधानी में न्यूनतम तापमान 7 दशमलव 7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से एक डिग्री अधिक है।

  • उदयपुर में  पिछले 24 घंटों के दौरान  तापमान रहा अधिकतम 21 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम  8  डिग्री सेल्सियस
  • तो ये थीं अब तक की अपडेट्स हम फिर आएंगे और अपडेट्स लेकर बने रहिए हमारे साथ…

Leave a Reply

Your email address will not be published.